[gtranslate]
Country

बदायूँ गैंगरेप मामला: मुख्य आरोपी महंत सत्यनारायण गिरफ्तार, 50 हजार का रखा था इनाम

उत्तर प्रदेश के बदायूँ के चर्चित गैगरेप और हत्याकांड का मुख्य आरोपी मंहत सत्यनारायण उत्तर-प्रदेश पुलिस की गिरफ्त में आ गया है। सत्यनारायण फरार चल रहा था। उसके ऊपर उत्तर-प्रदेश सरकार ने 50 लाख का ईनाम भी रखा था। सत्यनारायण अपने एक अनुयायी के घर पर छुपकर बैठा हुआ था, जहां से पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। पुलिस सत्यनारायण से पूछताछ कर रही है।

गैंगरेप मामले पर जब सरकार को विपक्षी पार्टियों ने घेरना शुरू किया तो मामले में उत्तर-प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी सामने आए। उन्होंने मुख्य आरोपी को पकड़ने के लिए एसटीएफ को आदेश दिया। योगी ने आरोपियों पर एनएसए के तहत कार्रवाई करने के आदेश दिए थे, और मुख्य आरोपी महंत सत्यनारायण पर 50 हजार का इनाम भी घोषित किया था। योगी आदित्यनाथ ने बदायूँ मामले पर ट्वीट कर कहा था कि जनपद बदायूं की घटना अत्यंत निंदनीय है। अभियुक्तों के विरुद्ध कठोरतम कानूनी कार्रवाई की जाएगी। घटना के संबंध में रिपोर्ट प्रस्तुत करने तथा UP-STF को विवेचना में सहयोग करने हेतु निर्देशित किया है। इस घटना के दोषियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा।

क्या था मामला

दरअसल उघैती इलाके में रविवार 3 जनवरी की रात को एक 50 वर्षीय महिला मंदिर में पूजा करने के लिए गई थी। उसके बाद महिला का शव संदिग्ध हालात में मिला था। पुलिस ने जब मामले में छानबीन की और पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई तो उसमें गैंगरेप की पुष्टि हुई। पुलिस ने इस मामले में गैंगरेप और हत्या का मामला दर्ज किया और तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया। हालांकि इस मामले में एक पुलिस अधिकारी राघवेंद्र को सस्पेंड किया गया था, क्योंकि उन्होंने मामले को लेकर लापरवाही की थी। पहले पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था, महंत सत्यनारायण फरार चल रहा था। जिसे अब पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। जब यूपी में बीजेपी की सरकार आई थी, और योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री बने थे, तब योगी आदित्यनाथ ने अपने एक बयान में कहा था कि चोर-उचक्के या बदमाश यूपी छोड़ कर चले जाए नहीं तो उनका अंजाम बहुत बुरा होगा। अगले चुनाव आने वाले लेकिन यूपी में अभी तक भी गैगरेप, मर्डर, चोरी इत्यादि की घटनाएं आए दिन होती रहती है। रेप जैसे जघन्य अपराध जैसी घटनाएं भी नहीं रूक रही। सरकार के सारे दावे धरे के धरे रह गए है। प्रियंका गांधी वाड्रा इन दिनों यूपी में काफी सक्रिय हैं। उन्होंने सरकार को घेरते हुए ट्वीट कर कहा था कि हाथरस में सरकारी अमले ने शुरुआत में फरियादी की नहीं सुनी, सरकार ने अफसरों को बचाया और आवाज को दबाया। बदायूं में थानेदार ने फरियादी की नहीं सुनी, घटनास्थल का मुआयना तक नहीं किया। महिला सुरक्षा पर यूपी सरकार की नीयत में खोट है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD