[gtranslate]
Country

भविष्य की राजनीति तय करेंगे विधानसभा चुनाव 

देश में राजनीतिक पारा चरम पर है। उत्तर प्रदेश सहित पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों की घोषणा हो चुकी है। सभी राजनीतिक पार्टियां इन राज्यों में सक्रिय हैं। लेकिन सबकी निगाहें उत्तर प्रदेश पर टिकी हुई हैं। पिछले एक साल तक चले किसान आंदोलन, लखीमपुर खीरी घटना, महंगाई उत्तर प्रदेश, पंजाब और उत्तराखण्ड में अहम मुद्दा है। सभी राजनीतिक दल इसे अपने पक्ष में भुनाने में जुटे हैं। इन चुनावों को 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव का सेमीफाइनल  भी माना जा रहा है। इसलिए राजनीतिक दृष्टि से यह काफी अहम है।

 

केंद्र और राज्यों के सत्ताधारी दलों के लिए यह चुनाव काफी मायने रखेंगे। भाजपा नेतृत्व इन चुनाव को काफी गंभीरता से ले रहा है। क्योंकि पांच चुनावी राज्यों में से चार में पार्टी सत्ता में है। इसलिए पार्टी को अपनी सत्ता बचने की सबसे बड़ी चुनौती है। पार्टी इन राज्यों में वापसी कर 2024 में होने वाले आम चुनाव के लिए सत्ता विरोधी माहौल को कम कर सकेगी। गौरतलब है कि जिन राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं, उनमें उत्तर प्रदेश, उत्तराखण्ड, गोवा और मणिपुर में भाजपा सत्ता में है। भाजपा नेतृत्व ने हाल में जिन राज्यों में चेहरे को बदला है, उसे पार्टी की भावी रणनीति के मद्देनजर महत्वपूर्ण माना जा रहा है। इसके जरिए पार्टी ने अपने सत्ता विरोधी माहौल को खत्म करने की कोशिश की है।

दरअसल, कोरोनाकाल में लोगों की बढ़ी दिक्कतों के बाद सरकार और मंत्रियों को लेकर नाराजगी देखने को मिली थी। इन नाराजगियों को दूर करने के लिए कृषि कानून को वापस लिया गया। उत्तराखण्ड में मुख्यमंत्री का चेहरा बदला गया। इस बदलाव के साथ पार्टी लोगों में फिर से विश्वास जगाना चाहती है। आमतौर पर चुनाव स्थानीय और तत्कालीन मुद्दों पर होते हैं। लेकिन इनके जरिए राजनीतिक जनता की नब्ज को भी टटोलती है। जिसे आगे के महत्वपूर्ण चुनावों में रणनीति बनाने में महत्वपूर्ण माना जाता है। इसलिए भी भाजपा सहित विपक्षी दलों के लिए पांच राज्यों के  विधानसभा चुनावों को  महत्वपूर्ण माना जा रहा है। जनता राज्य सरकारों के कामकाज पर अपना फैसला देगी। यह भविष्य के लिए राजनीतिक संकेत भी होंगे। यदि भाजपा की इन चुनावों में शिकस्त होती है तो विपक्ष एकजुट होने का प्रयास कर  2024 में मोदी का मुकाबला करने की रणनीति पर काम करेंगे।

पांच में से चार राज्यों पंजाब, उत्तराखण्ड, गोवा और मणिपुर में कांग्रेस सत्ता में वापसी के लिए लड़ाई लड़ रही है। वहीं उत्तर प्रदेश में वह प्रियंका गांधी वाड्रा के नेतृत्व में पहले से बेहतर करने की उम्मीद  है। अभी पंजाब में  कांग्रेस की सरकार है। इसलिए यह चुनाव कांग्रेस के लिए भी बेहद महत्वपूर्ण है। यदि कांग्रेस चुनावों में अच्छा प्रदर्शन करती है तो न पार्टी के अंदर हाईकमान के प्रति बढ़ती नाराजगी कम होगी बल्कि विपक्षी दलों में भी पार्टी की स्वीकार्यता बढ़ेगी। यदि वह एक से अधिक राज्यों में वापसी नहीं कर पाती है तो भविष्य में उसकी मुश्किलें और बढ़ेंगी।  पंजाब और गोवा में आम आदमी पार्टी भी लंबे समय से प्रयासरत है। इस बार उसने उत्तराखण्ड में भी अपनी पैठ बढ़ाई है। पंजाब पर उसकी उम्मीदें टिकी हैं। यदि उसे सफलता मिलती है तो वह पहली क्षेत्रीय पार्टी होगी जो दूसरे राज्य में भी सरकार बनाने में कामयाब होगी।

राजनीतिक विश्लेषकों की मानें तो उत्तर प्रदेश का चुनाव सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है। भाजपा ने पिछली बार प्रंचड बहुमत से विधानसभा चुनाव जीते थे। लेकिन इस बार उसके लिए चुनौतियां कम नहीं हैं। पिछला चुनाव जहां उसके लिए एकतरफा जीत वाला साबित हुआ था। इस बार का चुनाव दो कोणीय होता नजर आ रहा है। जबकि मौजूदा राजनीतिक हालात में त्रिकोणीय या बहुकोणीय चुनाव भाजपा के लिए कहीं ज्यादा फायदेमंद साबित हो सकता था। लेकिन अभी तक की जो स्थिति है, उसमें भाजपा-सपा आमने-सामने दिख रहे हैं।

उत्तराखण्ड में भी भाजपा को कांग्रेस से कड़ी चुनौती मिलती दिख रही है। राज्य में भाजपा ने तीन मुख्यमंत्री बदले हैं लेकिन इसके बावजूद उसका मुकाबला कड़ा है। पंजाब में भाजपा के साथ अकालियों का साथ नहीं है। इस दफा कैप्टन अमरिंदर नए साथी बने हैं। इसलिए वहां मुकाबला कांग्रेस और आप के बीच होता दिख रहा है। चुनाव से ठीक पूर्व दलित मुख्यमंत्री बनाकर और लोक लुभावन घोषणाएं करके कांग्रेस ने जनता की नाराजगी को दूर करने की कोशिश की है।

हालांकि गोवा में मुख्य मुकाबला भाजपा – कांग्रेस के बीच रहता आया  है। इस बार आप और तृणमूल कांग्रेस ने उसे रोचक बना दिया है। ऐसे में भाजपा को बढ़त मिलती दिख रही है। मणिपुर में भाजपा के नेतृत्व वाली एनडीए की सरकार है। लेकिन कांग्रेस वहां भाजपा को चुनौती दे रही है। केंद्र में आने के बाद भाजपा ने पूर्वोत्तर पर विशेष रूप से ध्यान दिया है। इसलिए मणिपुर में उसे अपनी मौजूदा स्थिति को बनाए रखना बेहद जरूरी है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD