[gtranslate]
Country

दिल्ली शराब घोटाले में एक के बाद एक गिरफ्तारी

देश की राजधानी दिल्ली में शराब नीति के कथित घोटाले में लगातार एक के बाद एक गिरफ्तारी हो रही है। सीबीआई द्वारा विजय नायर के गिरफ्तार किए जाने के बाद अब ईडी द्वारा शराब कारोबारी समीर महेंद्रू को भी हिरासत में ले लिया गया है।

 

नई शराब नीति कथित घोटाले में उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी आरोपी बताए जा रहे हैं। खबरों के अनुसार नायर को दिल्ली में शराब के ठेकों के लाइसेंस के आवंटन में कथित अनियमितताओं के संबंध में गुटबंदी और साजिश में शामिल होने के आरोप में मंगलवार की शाम को गिरफ्तार किया गया है । मामला दर्ज कर आरोप लगाया गया है कि सिसोदिया के सहायक अर्जुन पांडे ने नायर की ओर से शराब कारोबारी समीर महेंद्रू से करीब दो से चार करोड़ रुपये नकद लिए थे। जिस वजह से नायर और समीर महेंद्रू जांच एजेंसियों के घेरे में आ गए। सीबीआई द्वारा विजय नायर को गिरफ्तार किए जाने के बाद समीर महेंद्रू को भी दूसरे दिन प्रवर्तन निदेशालय द्वारा हिरासत में लिया गया है। अधिकारियों के अनुसार समीर महेंद्रू दिल्ली में शराब घोटाले के आरोपियों में शामिल हैं और उनके घर पर छापेमारी हो चुकी है। ये इंडोस्प्रिट के मालिक हैं। प्रवर्तन निदेशालय एजेंसी ने आरोप लगाया है कि महेंद्रू उन व्यवसायियों में से एक थे जो 2021-22 के लिए दिल्ली सरकार की आबकारी नीति तैयार करने और उसके कार्यान्वयन से जुड़ी कथित अनियमितताओं में सक्रिय रूप से शामिल थे। जिस वजह से ईडी द्वारा इन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है।

इससे पहले ‘आम आदमी पार्टी’ ने सीबीआई द्वारा विजय नायर को हिरासत में लिए जाने को लेकर कहा था कि नायर की गिरफ्तारी गुजरात चुनाव की वजह से की गई है। उन्हें ‘आप पार्टी ‘ का संचार प्रमुख बताते हुए पार्टी ने कहा कि नायर ने शराब नीति पर कुछ नहीं किया है। वह पार्टी का हिस्सा है, सरकार का नहीं। वहीं ‘आप’ प्रवक्ता आतिशी के अनुसार विजय नायर से की जा रही पूछताछ में सिसोदिया का नाम लेने के लिए दबाव बनाया जा रहा था और इंकार करने पर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। एक महीने में उनके घर पर दो बार रेड की गई, लेकिन कुछ नहीं मिला।

आबकारी नीति में करोड़ों का भ्रष्टाचार

 

आतिशी के मुताबिक विजय नायर अभी भी गुजरात में पार्टी के लिए काम कर रहे थे और वहां ‘आप’ की बढ़ती लोकप्रियता से घबराकर उन्हें गिरफ्तार किया गया है। वहीं भाजपा ने इस मामले को लेकर कहा है कि आप द्वारा नई आबकारी नीति के बहाने दिल्ली के राजस्व को लूटने का काम किया गया है । बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता के मुताबिक इस मामले में पहली गिरफ्तारी के बाद धीरे-धीरे सभी काले चिट्ठे खुल रहे हैं। आबकारी नीति में करोड़ों का भ्रष्टाचार किया गया है।

इस कथित आबकारी नीति घोटाले में विजय नायर और समीर महेंद्रू, के अलावा मनीष सिसोदिया, ब्रिंडको स्प्रिट्स के मालिक अमनदीप ढल, बडी रिटेल के निदेशक अमित अरोड़ा, राधा इंडस्ट्रीज के दिनेश अरोड़ा, प्रोपराइटरशिप फर्म महादेव लिकर्स के सन्नी मारवाज शामिल हैं। सीबीआई द्वारा सिसोदिया समेत आठ आरोपियों के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर नोटिस जारी किया है।

यह भी पढ़ें : देशभर में पहले वर्चुअल स्कूल के दावे को एनआईओएस ने बताया झूठा

 

You may also like

MERA DDDD DDD DD