[gtranslate]
Country

DGP गुप्तेश्वर से पहले ही DIG पद छोड़ राजनीति के मैदान में बिहार के एक IPS 

कुछ दिनों पहले ही बिहार में डीजीपी पद को छोड़कर राजनीति में आए गुप्तेश्वर पांडेय की चर्चा आम है। यूं तो कल ही गुप्तेश्वर पांडेय ने जेडीयू की सदस्यता लेकर राजनीति में प्रवेश कर लिया है। लेकिन बहुत कम लोग जानते हैं कि बिहार के डीजीपी रह चुके गुप्तेश्वर पांडे से पहले भी एक आईपीएस राजनीति की गलियों में खाक छान रहा है।
यह आईपीएस ऑफिसर है नागेंद्र चौधरी। जिन्होंने झारखंड के रेल डीआईजी पद से इस्तीफा देकर राजनीति में कूदने का निर्णय लिया है। बिहार के डीजीपी रहे गुप्तेश्वर पांडेय ने तो 5 दिन पूर्व ही अपने डीआईजी पद से वीआरएस लेकर राजनीति में आने का निर्णय लिया था। लेकिन आईपीएस नागेंद्र चौधरी 2 साल पहले ही यह काम कर चुके है।
रेलवे में डीआईजी रह चुके नागेंद्र चौधरी वर्तमान में सहरसा के डीआईजी सुरेश चौधरी के छोटे भाई हैं। वह अपनी नौकरी से वीआरएस लेकर विधानसभा चुनाव की पूरी तैयारियों के साथ बीजेपी की सदस्यता भी ग्रहण कर चुके हैं । फिलहाल वह महीनों से मुजफ्फरपुर के सकरा विधानसभा क्षेत्र (सुरक्षित सीट) पर नजर गड़ाए हुए हैं।
पिछले कई महीनों से वह सकरा विधानसभा क्षेत्र में चुनाव प्रत्याशी के तौर पर घर-घर वोट मांग रहे हैं। हालांकि सकरा विधानसभा से भाजपा के टिकट की उम्मीद लिए पूर्व डीआईजी की केमिस्ट्री को कांटी के निर्दलीय विधायक अशोक चौधरी ने गड़बड़ा दिया है । बताया जा रहा है कि अशोक कांटी छोड़कर सकरा की ओर रुख कर रहे हैं । इसके चलते ही जदयू से अशोक चौधरी सकरा से चुनाव लड़ने का दावा ठोक चुके हैं। जबकि पूर्व डीआईजी नागेंद्र चौधरी दावा करते हैं कि भारतीय जनता पार्टी उन्हें सकरा विधानसभा से उम्मीदवार बनाएगी। जिसके चलते ही वह लगातार क्षेत्र का दौरा कर रहे हैं।

You may also like

MERA DDDD DDD DD