Country

PhD की पढ़ाई के साथ-साथ काजल ने सौ प्रतिशत अंक से पास की UGC NET की परीक्षा

कोई अगर एक बार अपने मन में कुछ करने के लिए ठान ले तो उसे फिर कोई भी नहीं रोक सकता। ऐसा ही काजल भरद्वाज ने अपने मन में ठानकर अपने माँ-बाप का नाम रोशन किया है। काजल ने यूजीसी नेट की जूनियर रिसर्च फेलोशिप (जेआरएफ) के लिए हुई परीक्षा में 100 प्रतिशत अंक प्राप्त किए हैं। काजल अलीगढ़ विश्वविद्यालय के हिंदी विभाग में शोध छात्रा हैं।

काजल ने बिना किसी कोचिंग के ही अपनी मेंहनत से राष्ट्रीय स्तर पर होने वाली इस परीक्षा की तैयारी की और सौ प्रतिशत हासिल करते हुए जेआरएफ में सफलता पाई।काजल भारद्वाज सासनी गेट (अलीगढ़) की रहने वाली है। काजल भरद्वाज मुनेश पाल भारद्वाज की पुत्री हैं।

मुनेश पाल भारद्वाज ने बताया कि पुत्री काजल भारद्वाज हिन्दी विभाग में प्रो. वेद प्रकाश के निर्देशन में पढ़ाई की और आज इतनी सफलता हासिल की। उन्होंने बताया कि काजल पीएचडी की पढ़ाई के साथ-साथ तीन से चार घंटे परीक्षा की तैयारी के लिए देती थी, जिससे काजल ने यूजीसी नेट की जूनियर रिसर्च फेलोशिप (जेआरएफ) की परीक्षा सफल की।

साथ ही उन्होंने बताया कि इसके लिए काजल ऑनलाइन चैनलों से पढाई करती थी और जो पहले पेपर हुआ करते थे उनको साल्व किया करती थी। इससे काजल को काफी मदद मिली। अपनी  पीएचडी की पढ़ाई के दौरान जब भी उन्हें समय मिलता था, वह तैयारी करती थी। काजल ने वर्ष 2017 में भी नेट उत्तीर्ण किया था।

काजल ने स्नातक और परास्नातक की पढ़ाई भी एएमयू से ही की है। पढाई के दौरान वर्ष 2017 में जब बीएड कर रही थी तो भी उन्होंने नेट की परीक्षा उत्तीर्ण की थी। पिछली बार भी उन्होंने बिना किसी कोचिंग के अपने शिक्षकों के मार्ग दर्शन में ही परीक्षा की तैयारी की थी।

अपनी उपलब्धि पर काजल का कहना है, “मैं बहुत लंबे समय से परीक्षा की तैयारी कर रही थी। मूलभूत कॉन्सेप्ट सीखना बहुत महत्वपूर्ण होता है। मैंने बहुत कठिन परिश्रम किया था और मैं परिणाम से बहुत खुश हूं।”

You may also like