Country

सीबीआई की छापेमारी का सर्वत्र विरोध

सुप्रीम कोर्ट की वरिष्ठ वकील एंव पूर्व एडिशनल सालिसिटर जनरल इंदिरा जयसिंह के पति आनंद ग्रोवर पर शिकंजा कसते हुए सीबीआई 11 जुलाई गुरुवार दिल्ली और मुंबई में पांच जगहों पर छापेमारी की गई ये छापेमारी उनके फाउंडेशन लायर्स कलेक्टिव पर विदेशी फंडिंग के चल मामले के तहत की गयी। सीबीआई द्वारा मुंबई में आनंद ग्रोवर के आवासीय परिसर और लायर्स कलेक्टिव के दो कार्यालयों में छापेमारी की गई। वही दिल्ली में आनंद ग्रोवर के आधिकारिक और आवासीय परिसर में छापेमारी में दस्तावेजों को भी जब्त किया गया। लायर्स कलेक्टिव पर विदेशी चंदा विनियम कानून तोड़ने का आरोप है। जिसके बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इसका लाइसेंस भी रद्द कर दिया था इसी गड़बड़ी के सामने आने के बाद सीबीआई द्वारा इस मामले में आनंद ग्रोवर और लायर्स कलेक्टिव पर केस दर्ज किया गया था।

सीबीआई के वरिष्ठ अधिकारी द्वारा बताया गया की मई के अंत में गृह मंत्रालय की और से जांच की अनुशंसा का पत्र मिलने के बाद १३ जून को फआईआर दर्ज की गई। इसी मामले में सीबीआई द्वारा छापेमारी की गई। छापेमारी पर इंदिरा जयसिंह द्वारा बयान दिया गया की उन्हें और आनंद ग्रोवर को टारगेट किया जा रहा है हम मानवाधिकार का काम कर रहे है इस वजह से निशाने पर है इस छापेमारी पर राजनितिक प्रतिक्रिया आनी भी जारी हो चुकी है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल द्वारा इस छापेमारी के निंदा की गई उन्होंने ट्वीट के जरिये कहा की कानून को अपना काम करने देना चाहिए, परन्तु जो कानून को बचाने में जिंदगी घपा रहे है, उन्हें इस तरह परेशान नहीं किया जाना चाहिए।

You may also like