[gtranslate]
Country

पुजारी पर फिर दर्ज हुआ योन शोषण का मामला

 

बाल योन शोषण के कड़े कानून होने के बावजूद इसके मामले बढ़ते जा रहे हैं। ताजा मामला कर्नाटक से सामने आया है। यहां जगद्गुरु मुरुगराजेंद्र विद्यापीठ मठ के प्रमुख पुजारी शिवमूर्ति मुरुघा शरणारू के खिलाफ बाल यौन शोषण का दूसरा मामला दर्ज किया गया है। पुजारी के खिलाफ इससे पहले एक मामला 25 अगस्त को दर्ज किया गया था।

यह शिकायत बाल कल्याण समिति द्वारा मैसूर के नज़राबाद पुलिस में दर्ज कराई गई है । इस मामले में पुलिस के अनुसार दो नाबालिग जो 12 और 14 साल की है वो मठ द्वारा संचालित श्री जगद्गुरु मुरुघा शिक्षण संस्थानों में पढ़ रही थी। इन लड़कियों के माता-पिता ने पुजारी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी।

नबालिक लड़कियों के मुताबिक “वे एसजेएम संस्था में पढ़ती थी और मठ के अक्का महादेवी छात्रावास में रहती थी। इसी दौरान कथित तौर पर आरोपी शिवमूर्ति मुरुघा शरणारू ने नबालिक लड़कियों का यौन उत्पीड़न किया था । लड़कियों के कहने अनुसार उन्हें आदेश दिया गया था कि उन्हें मठ के मुख्य पुजारी की सेवा करनी है।

कोरोना लॉकडाउन के दौरान पुजारी द्वारा एक बार नहीं बार -बार नबालिक लड़कियों का योन उत्पीड़न किया गया। दोनों लड़कियों की मां के मुताबिक पहला यौन उत्पीड़न कोरोना लॉकडाउन के दौरान 2020 में हुआ था। इसके बाद यह सिलसिला शुरू हुआ और बार-बार यौन शोषण किया गया। उनके कहने अनुसार ” वह छह साल से एक रसोइया के रूप में काम कर रही थी। मठ द्वारा संचालित अक्का महादेवी छात्रावास में उन्होंने दोनों बेटियों को इसलिए रखा था क्योंकि परिवार उनकी शिक्षा का खर्च नहीं उठा सकता था।

पीड़ित लड़कियों की माँ के मुताबिक शिवमूर्ति मुरुघा पर पहले भी पॉक्सो मामले में मामला दर्ज किया गया है। शिवमूर्ति मुरुघा के साथ काम करने वाले लोगों ने उसकी बेटी को पुजारी के कमरे के अंदर जाने के लिए मजबूर किया। जिसके बाद पीड़ित के परिवार ने मैसूर एनजीओ ओडानाडी से संपर्क किया। यह एनजीओ नाबालिग को बाल कल्याण समिति के पास ले गया, जिसने उनकी काउंसलिंग की उसके बाद पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई । पुलिस के मुताबिक पोक्सो के तहत शिवमूर्ति शरणारू, युवा संत बसवरादित्य, परमशिवैया, हॉस्टल वार्डन रश्मि, गंगाधरैया, महा लिंगैया , मठ कार्यकर्ता और करिबसप्पा के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

गौरतलब है कि “जगद्गुरु मुरुगराजेंद्र विद्यापीठ” मठ के प्रमुख शरणारू को जनता के भारी दबाव के बाद 1 सितंबर को गिरफ्तार किया गया था। दरअसल इस पुजारी पर 2019 और 2022 के बीच 15 और 16 साल की दो लड़कियों के साथ बलात्कार करने का आरोप है। इसके चलते पुलिस ने यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण एक्ट 2012 के तहत 25 अगस्त को बलात्कार का मामला दर्ज किया था। इस बार लड़कियों के यौन उत्पीड़न के मामले में उनके खिलाफ केस दर्ज हुआ है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD