[gtranslate]
Country

विकास दुबे के बाद अब अंसारी की गाड़ी पलटने का डर, पत्नी ने राष्ट्पति से मांगी ‘लाइफ प्रोटेक्शन’ 

 पिछले साल कानपुर कांड के आरोपी विकास  दुबे को मध्य प्रदेश से उत्तर प्रदेश लाया जा रहा था और उसकी गाड़ी पलट गई थी। इसके बाद वह मुठभेड़ में मारा गया था।  कुछ इसी तरह की घटना की रिहर्शल मुख्त्यार अंसारी के साथ ना हो इसके डर से अंसारी के परिजनों ने राष्ट्पति को पत्र लिखा है। मुख्त्यार अंसारी की पत्नी के द्वारा लिखा गया यह पत्र चर्चा का विषय बन गया है। अधिकतर लोग उत्तर प्रदेश में विकाश दुबे प्रकरण की पुनरावृत्ति की आशंका जता रहे है। कानपुर में बिकरुकांड के आरोपी विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद पंजाब की रोपड़ जेल में रहते हुए अंसारी ने भी अपनी जान का खतरा बताया था। तब अंसारी ने राष्ट्पति को एक पत्र लिखकर आशंका जताई थी कि जैसे दुबे की जीप पलट गई और जान चली गई, ऐसे मेरी भी जा सकती है।

फिलहाल एक बार फिर मुख्त्यार अंसारी की जान की सलामती के लिए उनकी पत्नी अफशां अंसारी ने राष्ट्पति को लिखे पत्र में भी कहा है कि उनके पति मुख्तार अंसारी इस समय पंजाब की रोपड़ जेल में बंद हैं। उच्चतम न्यायालय ने 26 मार्च को अपने आदेश में उन्हें रोपड़ जेल से 2 सप्ताह के अंदर बांदा जेल भेजने का आदेश दिया है। उनके पति एक मामले में चश्मदीद गवाह हैं, जिसमें भाजपा के विधान परिषद सदस्य माफिया बृजेश सिंह और त्रिभुवन सिंह अभियुक्त हैं। यह दोनों अभियुक्त सरकारी तंत्र की कथित मिलीभगत से अंसारी को जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। लिहाजा इस बात का खतरा महसूस हो रहा है कि पंजाब की जेल से बांदा लाए जाते वक्त रास्ते में फर्जी मुठभेड़ की आड़ में अंसारी की हत्या की जा सकती है।

राष्ट्पति को लिखे पत्र में अफशां ने कहा है कि उत्तर प्रदेश सरकार के कुछ अधिकारियों के पूर्व में किए गए क्रियाकलापों से आवेदक का परिवार भयभीत है और अपने पति के जीवन की सुरक्षा के प्रति घोर चिंतित है। आवेदक को मिल रही पुख्ता सूचना और धमकी के कारण ऐसा लगता है कि अगर मेरे पति के जीवन की सुरक्षा के लिए जिम्मेदारी तय किए बगैर उन्हें उत्तर प्रदेश भेजा गया तो निश्चित रूप से कोई झूठी कहानी रच कर मेरे पति की हत्या करा दी जाएगी। इसलिए राष्ट्रपति से गुजारिश है कि वह उत्तर प्रदेश लाए जाते वक्त मेरे पति के ‘लाइफ प्रोटेक्शन’ का आदेश दें।

संबंधित समाचार  : क्या है मुख्तार अंसारी और योगी की टशन, 2006 के आंसुओ का प्रतिशोध तो नहीं?

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान उत्तर प्रदेश सरकार ने कहा था कि मुख्तार अंसारी पर 15 केस दर्ज हैं और वह गैंगस्टर की श्रेणी में आता है। वह पंजाब की जेल में मौज कर रहा है। उसके न आने से उत्तर प्रदेश की अदालतों में उसके खिलाफ सुनवाई रुकी हुई है। वहीं, पंजाब सरकार के वकील दुष्यंत दवे ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार की मांग संवैधानिक प्रावधानों के खिलाफ है, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने वकील की दलील ठुकरा दी। इसके बाद न्यायालय ने मुख्त्यार अंसारी को दो सप्ताह के अंदर पंजाब से यूपी की जेल भेजने का आदेश दिया था।

दो साल पहले मुख्त्यार अंसारी उत्तर प्रदेश की बाँदा जेल में था। लेकिन 8 जनवरी 2019 को पंजाब के मोहाली के एक बड़े बिल्डर की शिकायत पर वहां की पुलिस ने अंसारी के खिलाफ 10 करोड़ की फिरौती मांगने का केस दर्ज किया था। 12 जनवरी को प्रोडक्शन वारंट हासिल करने के लिए पंजाब पुलिस कोर्ट पहुंची थी । इसके बाद 21 जनवरी 2019 को मोहाली पुलिस मुख्तार अंसारी को प्रोडक्शन वारंट पर उत्तर प्रदेश से मोहाली ले आई। 22 जनवरी 2019 को कोर्ट ने उसे एक दिन की रिमांड पर भेज दिया। 24 जनवरी को उसे न्यायिक हिरासत में रोपड़ जेल भेज दिया गया। तभी से वह रोपड़ जेल में बंद था।

You may also like

MERA DDDD DDD DD