[gtranslate]
Country

लॉकडाउन के बाद जब महंगी घर लौटे तो माता-पिता और पत्नी कह चुके थे दुनिया को अलविदा

लॉकडाउन के बाद जब महंगी घर लौटे तो माता-पिता और पत्नी कह चुके थे दुनिया को अलविदा

लॉकडाउन के कारण देश भर में लोग अपनी कर्मभूमि से जन्मभूमि जाने के प्रयास में लगे हैं। तो कुछ अपने परिवार के पास पहुंचना चाहते हैं। कई तो ऐसे लोग भी हैं जो सालों बाद अपने घर पहुंच रहे हैं। ऐसे ही एक शख्स है जो तीस साल पहले नाराज होकर अपना घर छोड़ गए थे। महंगी प्रसाद किसी वजह से परिवार से नाराज होकर चले गए थे। लेकिन जब वो अपने घर लोटे तो सब कुछ बदल चुका था। माता, पिता और पत्नी सब दुनिया को अलविदा कह चुके थे। जिन्दा रही तो बस एक बेटी जिसे वह छोटी-सी उम्र में छोड़कर चले गए थे। अपनी बेटी को देख पिता महंगी प्रसाद उसे गले लगाकर रो पड़े।

उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले के कैथवलिया गाँव के महंगी प्रसाद किसी कारणवश साल 1990 में घर से निकल गए थे। वह उस समय 40 साल के थे और शादीशुदा थे। वह अपने माता-पिता, पत्नी और तीन बेटियों को छोड़ मुंबई चले गए थे।  वहाँ उन्होंने कई छोटे और बड़े काम करके एक दिन में अपने दो भोजन की व्यवस्था की थी। लेकिन इस दौरान 30 साल में, उन्होंने कभी अपने परिवार से संपर्क करने की कोशिश नहीं की। परिवार के लोगों ने उनकी तलाश की, लेकिन वह नहीं मिले। जिसके बाद परिवार ने मान लिया कि वो मर चुके हैं।

गांव का रास्ता भटक गए थे महंगी

महंगी प्रसाद के घर से चले जाने के बाद, उनके पिता ने घर की सारी जिम्मेदारी संभाल ली। उन्होंने ही तीन लड़कियों की शादी की। कुछ दिनों बाद, महंगी प्रसाद के माता-पिता का निधन हो गया। जब तालाबंदी के कारण काम धंधा ठप हो गया, तो महंगी प्रसाद भूखे रहने को विवश हो गए। अंत में, स्थिति से तंग आकर, महंगी प्रसाद ने घर जाने का फैसला किया। 3500 रुपये का भुगतान करते हुए, वह एक सब्जी की गाड़ी में गोरखपुर पहुंचे और वहां से चलना शुरू किया।

गाँव से कुछ ही दूरी पर महंगी बसंतपुर धुसी चौराहे पर रास्ता भूल गए। क्योंकि 30 साल बाद, सब कुछ बदल गया था।  लेकिन गनीमत रही कि गांव के एक व्यक्ति ने उन्हें देखकर पहचान लिया। वह व्यक्ति महंगी प्रसाद को गाँव ले गया। महंगी प्रसाद कहते हैं, मैंने शहर में बहुत पैसा कमाया लेकिन बचत नहीं की। वह कहते हैं कि वह बहुत दुखी है कि वह एक बच्चे और एक पति के कर्तव्य को पूरा नहीं कर सके। उन्हें इस बात का बहुत मलाल है।

You may also like