[gtranslate]
Country Poltics

नोएडा के बाद अब भोपाल में भी शशि थरूर समेत 8 लोगों पर राजद्रोह का केस हुआ दर्ज

नोएडा और भोपाल में  दो जगह पर कांग्रेस नेता शशि थरूर समेत 8 लोगों पर राजद्रोह का केस दर्ज कराया गया है। पहला राजद्रोह का मामला उत्तर प्रदेश के गाैतमबुद्ध नगर (नाेएडा) सेक्टर-20 थाने में 28 जनवरी को रात 8 बजे दर्ज हुआ। इसमें सभी आठों लोगों को 26 जनवरी को लाल किले पर हुए उपद्रव के दौरान सोशल मीडिया पोस्ट के जरिए दंगा भड़काने, हिंसा फैलाने की धाराओं के तहत भी आराेपी बनाया गया है।
नोएडा के बाद दूसरा मामला भोपाल का है जहाँ कांग्रेस सांसद शशि थरूर समेत 8 लोगों पर राजद्रोह का केस दर्ज किया गया है। इसमें देश के कई बड़े पत्रकार भी शामिल हैं। भोपाल में यह केस मिसरोद थाने में दर्ज हुआ है। दरअसल, इन सभी लोगों पर सार्वजनिक शांति भंग करने का आरोप लगा है। शिकायत संजय रघुवंशी नाम के किसान ने दर्ज कराई है।
किसान रघुवंशी ने पुलिस की शिकायत में कहा है कि इन लोगों दिल्ली हिंसा को लेकर सोशल मीडिया पर गलत तथ्य प्रसारित किए हैं। 8 लोगों में मुख्य रूप से पत्रकार राजदीप सरदेसाई, सांसद शशि थरूर, मृणाल पांडेय, परेशनाथ, अनंत नाथ और जोस हैं। इनके खिलाफ पुलिस ने धारा 153A, 505(2) सहित कई धाराओं के अंतर्गत मामला दर्ज किया है। भोपाल के दूसरे थानों में भी कुछ समाजसेवी संगठनों ने इनके खिलाफ शिकायत की है।
दरअसल, इन्हीं धाराओं के तहत इन लोगों पर नोएडा में भी केस दर्ज हुआ है। किसान संजय रघुवंशी ने कहा कि इनकी पोस्ट की वजह से अशांति पैदा हुई है। इन लोगों ने सोशल मीडिया पर दिल्ली हिंसा को लेकर गलत और भ्रामक पोस्ट की है।

यह बीजेपी प्रायोजित हिंसा है : दिग्विजय सिंह 

 

गौरतलब है कि एमपी सीएम शिवराज सिंह चौहान से लेकर तमाम बड़े बीजेपी नेताओं ने घटना की निंदा की है। इसके साथ ही बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने दिल्ली हिंसा को लेकर कांग्रेस की भूमिका जांच करने की मांग की है। वहीं, दिग्विजय सिंह ने कहा है कि यह बीजेपी प्रायोजित हिंसा है।
ट्रैक्टर पलटने की घटना से किसान की मौत पर भड़कायामिसरोद थाने में दर्ज की गई एफआइआर में लिखा है कि किसानों के ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा में ट्रैक्टर पलटने से किसान की मौत हुई थी। इसमें कुछ वरिष्ठ पत्रकारों ने पुलिस की गोली से किसान की मौत होने की खबर चलाकर भड़ाकाने का काम किया। जबकि बाद में दिल्ली पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज जारी कर मामले की सच्चाई सामने ला दी।
सरकार ने बिना संसद सत्र और विपक्ष पारित करा लिए 11 अध्यादेश, कांग्रेस ने उठाए सवाल

मुलताई थाने में भी मामला दर्ज

उधर, बैतूल के मुलताई थाने में भी इसी मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि समेत सहित 8 लोगों के खिलाफ गुरुवार रात मामला दर्ज किया है। मुलताई टीआइ सुरेश सोलंकी ने बताया कि मुलताई के आंबेडकर वार्ड निवासी बालमुकुंद पिता मुन्नालाल डोंगरे ने किसान आंदोलन के दौरान गलत, भ्रामक जानकारी सोशल मीडिया पर देकर हिंसा भड़काने का आरोप लगाते हुए शिकायती आवेदन दिया था।

You may also like

MERA DDDD DDD DD