Country

अंबानी परिवार भी काले धन की जांच धेरे में, इनकम टैक्स ने भेजा है नोटिस

‘दि इंडियन एक्सप्रेस की खोजी पत्रकार रितू सरीन ने एक बार फिर से एक एक्सक्लूसिव समाचार के जरिये यह प्रमाणित कर दिया है कि स्टिंग ऑपरेशन किये बगैर भी खोजी पत्रकारिता की जा सकती है। आज यानि 14 सितंबर के इंडियन एक्सप्रेस में प्रकाशित रितू सरीन का समाचार देश के सबसे बड़े औद्योगिक साम्राज्य के मालिक मुकेश धीरू भाई अंबानी को बड़े संकट में होने की तरफ इशारा करता है। बकौल सरीन मुकेश अंबानी के निकट  परिजनों पर काला धन कानून का शिकन्जा कस रहा है। 2015 में बने इस कानून (The black money (undisclosed foreign income and assets) and imposition of tax act 2015)  के अर्न्तगत मुकेश अंबानी की पत्नी नीता अंबानी और उनके तीनों बच्चों को मुंबई के अतिरिक्त इनकम टैक्स कमिश्नर द्वारा 29 मार्च को नोटिस तक भेजा जा चुका है। एक्सप्रेस की खबर अनुसार 2011 में बेनामी विदेशी खातों की जांच के दौरान अंबानी परिवार के विदेशों में बेहिसाब संपति की बात सामने आई थी। 1 फरवरी, 2015 में ‘द इंडियन एक्सप्रेस’ ने ही ‘इटरनेशनल कन्सोरटियम ऑफ इन्वेस्टिगेटिव जर्नलिस्ट’ संग मिलकर यह प्रमाणित करने का प्रयास किया था कि कैसे एचएसबीसी बैंक, जैनेवा में 14 बैंक खातों में 601 मिलियन अमेरिकी डॉलर जमा हैं जिनका कोई न कोई तार अंबानी परिवार से जुड़ा है। इस खबर के बाद हुई इनकम टैक्स की जांच जो बकौल रीतू सरीन 4 फरवरी, 2019 को पूरी हुई, अंबानी परिवार इन खातों में जमा धन का असल मालिक है। इस खबर के मुताबिक इनकम टैक्स विभाग में देश के सबसे बड़े अद्योगपति की पत्नी और बच्चों को नोटिस भेजने को लेकर खासा चिंतन-मंथन हुआ है। यहां तक की इनकम टैक्स विभाग की शीर्ष संस्था ‘सेन्ट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्टर टैक्सस’ तक की अनुमति इसके लिये ली गई। हालांकि रिलाइंस समूह ने ‘द इंडियन एक्सप्रेस’ को भेजे अपने जवाब में किसी भी प्रकार के नोटिस मिलने से इंकार कर दिया है। लेकिन इतना तय है कि सत्ता के शीर्ष और अंबानी परिवार के मध्य रिश्तों में कुछ न कुछ दरार अवश्य आ चुकी है।

You may also like