[gtranslate]
Country

बिहार में बिजली गिरने से 83 लोगों की मौत, PM मोदी ने ट्वीट कर जताया दुख

बिहार में बिजली गिरने से 83 लोगों की मौत, PM मोदी ने ट्वीट कर जताया दुख

बिहार में गुरुवार को बारिश के दौरान बिजली गिरने से 83 लोगों की मौत हो गई जबकि दर्जनों लोग गंभीर रूप से झुलस गए हैं। मौसम विभाग ने पहले ही गुरुवार और शुक्रवार को मूसलाधार बारिश का अलर्ट जारी कर दिया था। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख रुपये के मुआवजे का ऐलान किया है।

खबरों के मुताबिक, कुल 38 जिलों में से 23 जिलों में आकाशीय बिजली का कहर दिखा है। गोपालगंज जिले में सबसे अधिक 13 लोगों की मौत हुई है। वहीं सीवान में 5, औरंगाबाद (हसपुरा प्रखंड) में 3, मधुबनी में 7, पूर्णिया (कसबा प्रखंड) 1, बांका में 4, पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण और बेतिया में 2-2 लोगों की मौत हुई है।

मौसम विभाग के मुताबिक, गुरुवार को अररिया और किशनगंज जिले को रेड जोन में रखा है। इसके अलावा पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, सिवान, सारण, मधुबनी, गोपालगंज, मुजफ्फरपुर, वैशाली, दरभंगा, शिवहर, सुपौल,समस्तीपुर, पूर्णिया, मधेपुरा और सहरसा को ऑरेंज जोन में रखा गया है।

मौसम विभाग ने तबाही के बीच भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। बिहार के लिए 72 घंटे का अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिक आरके जेनामनी ने कहा, “अगले तीन दिनों में असम, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश, बिहार, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम में भारी से बहुत भारी वर्षा की चेतावनी दी गई है। बाढ़ की संभावनाएं भी हैं। इसलिए हमने राज्य और केंद्र सरकार को सूचित किया है।” वहीं, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, जम्मू-कश्मीर समेत उत्तर भारत के कई राज्यों में मॉनसून ने दस्तक दे दी है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा कि बिहार और उत्तर प्रदेश के इस घयना पर संवेदनाएं व्यक्त की हैं। उन्होंने लिखा, “बिहार और उत्तर प्रदेश के कुछ जिलों में भारी बारिश और आकाशीय बिजली गिरने से कई लोगों के निधन का दुखद समाचार मिला। राज्य सरकारें तत्परता के साथ राहत कार्यों में जुटी हैं। इस आपदा में जिन लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है, उनके परिजनों के प्रति मैं अपनी संवेदना प्रकट करता हूं।”

बता दें कि उत्तर प्रदेश में भी बिजली गिरने से 11 लोगों की मौत हो गई। देवरिया और कुशीनगर में आठ लोगों की मौत हो गई और सात लोग झुलस गए हैं। वहीं बुंदेलखंड के बांदा और ललितपुर जिलों में बिजली गिरने से तीन लोगों की मौत हो गई है। उनका पोस्टमॉर्ट हो गया है और उन सभी के शव को परिजनों को सौंप दिया गया है।

अधिकारियों का कहना है कि सभी मृतक या घायल खेतों में मवेशी चराने गए थे, तभी आकाशीय बिजली की चपेट में आ गए। बता दें सभी घायलों का इलाज अस्पतालों में चल रहा है। मौसम विभाग के मुताबिक, अगले 24 घंटों में दक्षिण बिहार से गुजर रही टर्फ ऑफ लाइन उत्तर बिहार की ओर शिफ्ट होगी। इसके साथ ही अरब सागर और बंगाल की खाड़ी क्षेत्र से आ रही नमी युक्त हवाओं का उत्तर बिहार में मिलन होगा। इस वजह से भारी बारिश की ऐसी स्थिति बनी है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD