Country Latest news

81 वर्षीय पदमश्री प्राप्त नवनीता सेन का निधन

प्रसिद्ध साहित्यकार एवं नोबेल पुरस्कार विजेता 81 वर्षीय नवनीता सेन का गुरुवार शाम दक्षिण कोलकाता में उनका निधन हो गया। साहित्य अकादमी पुरस्कार विजेता और पदमश्री से सम्मानित श्रीमती  सेन काफी लंबे समय से बीमार चल रही थीं, उनके परिवार में उनकी दो बेटियां अंतारा और नंदना हैं।  नवनीता सेन अर्थशास्त्री डॉ. अमर्त्य सेन की पहली पत्नी थी।  कई किताबों की लेखिका रहीं नवनीता काफी वक्त से कैंसर से पीड़ित थीं और घर पर ही उनका इलाज किया जा रहा था।

 

नवनीता के निधन का समाचार मिलने के बाद साहित्य जगत के तमाम लोगों ने उन्हें अपनी श्रद्धांजलि दी है।  पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने देव सेन की मृत्यु पर दुख की इस घड़ी में उनके परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए ट्वीट किया  ” प्रसिद्ध साहित्यकार और अकादमिक नवनीता देव सेन केनिधन से दुखी हूं, कई पुरस्कार विजेता श्री मति सेन की अनुपस्थिति उनके असंख्य छात्रों और शुभचिंतकों द्वारा महसूस की जाएगी”।

एक कवि, एक उपन्यासकार, एक स्तंभकार और लघु कथाओं और यात्रा वृतांतों के लेखक, देव सेन को रामायण पर उनके शोध के लिए भी जाना जाता था। श्रीमति सेन का जन्म 13 जनवरी, 1938 को कोलकाता में नरेंद्रनाथ देव और राधारानी देवी के घर हुआ था। नवनीता देव सेन का 1958 में अर्थशास्त्री अमर्त्य सेन से विवाह हुआ था। जिन्हें बाद में नोबेल पुरस्कार से नवाजा गया था। हालांकि साल 1976 में दोनों में तलाक हो गया था।

 

 

You may also like