[gtranslate]
Country

जहरीली शराब पीने से 24 लोगों की मौत

पंजाब के अमृतसर, तरनतारन और गुरदासपुर जिलों में जहरीली शराब पीने से 24 लोगों मौत हो गई। एक दर्जन से भी ज्यादा लोगों गंभीर हालत बनी हुई है। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस घटनाक्रम की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया है।  पंजाब के जिलों में खुलेआम शराब की ब्रिक्री हो रही है। अमृतसर जिले के गांव मुछल में भी पुलिस की मिलीभगत से गोरख धंधे का काम चल रहा है। इस धंधे में एक महिला भी लिप्त है। 28 जुलाई की रात इसी गांव के कुछ लोगों ने कच्ची शराब पी तो उनकी हालत बिगड़नी शुरू हो गई।

अमृतसर जिले में अलग-अलग जगहों पर मौतों का सिलसिला शुरू हुआ। 31 जुलाई दोपहर तक अमृतसर जिले में 11 लोगों की मौत हो चुकी है। तरनतारन जिला के गांव राटौल में भी जहरीली शराब का कहर बरपा है। तरनतारन में सात लोगों की मौत हो चुकी है। सीमावर्ती जिला गुरदासपुर के कस्बा बटाला में भी जहरीली शराब पीने से छह लोगों की मौत हो चुकी है। पंजाब के तीनों जिलों में इस समय करीब दो दर्जन लोग विभिन्न अस्पतालों में उपचाराधीन हैं। इस जांच के बाद एक थाना प्रभारी को निलंबित कर दिया गया है। पंजाब पुलिस महानिदेशक दिनकर गुप्ता के मुताबिक पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों के हवाले किये जा चुके हैं। जहरीली वस्तु के सेवन से मौत की आशंका है।

डीजीपी ने कहा कि जांच के आधार पर टांगरा पुलिस चैकी प्रभारी को निलंबित किया जा चुका है। इसके अलावा जांच में जो लोग भी दोषी पाए जाएंगे उनके विरूद्ध कार्रवाई की जाएगी। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पूरे घटनाक्रम की जांच के आदेश देते हुए जालंधर के मंडल आयुक्त की अध्यक्षता में एक एसआईटी का गठन कर दिया है। एसआईटी में आबकारी और कराधान विभाग के आयुक्त के साथ तीनों जिलों के एसपी स्तर के अधिकारियों को शामिल किया गया।

You may also like

MERA DDDD DDD DD