[gtranslate]
Country

MP में जहरीली शराब पीने से 20 लोगों की मौत , CM ने DM-SP को हटाया

मध्य प्रदेश में पिछली सरकार ने शराब के अवैध कारोबार को रोकने के लिए नई शराब नीति में नई दुकानें खोलने के बजाय डिमांड वाले इलाकों में उप-दुकान खोलने का फैसला किया था, लेकिन, अवैध शराब बिक्री रोकने में यह नीति बेअसर ही साबित हुई है। जिसके बाद अब बेहद ही दुखद हादसा हुआ है। जिसमे मुरैना इलाके में 20 लोग जहरीली शराब की भेट चढ़ गए है। मरने वालों में आठ लोग मानपुरा गांव के हैं। जबकि सुमावली के पहावली गांव के चार लोगों की मौत हुई है। इनमें दो सगे भाई शामिल हैं। मध्य प्रदेश में तीन माह पहले भी 15 अक्टूबर को उज्जैन में जहरीली शराब से 14 लोगों की जान गई थी।

 इस मामले में लापरवाही बरतने पर प्रभारी आबकारी अधिकारी जावेद खां और बागचीनी थाना प्रभारी अविनाश राठौड़ सहित दो बीट प्रभारियों को निलंबित कर दिया गया है। जबकि  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मुरैना के जिलाधिकारी अनुराग वर्मा और एसपी अनुराग सुजातिया को हटाने का आदेश दे दिया है। पुलिस ने मानपुरा में से अवैध शराब बेचने वाले सात शराब तस्कर मुकेश किरार, मानपुरा के गिर्राज किरार, उसके बेटे राजू किरार, पप्पू शर्मा और उसके बेटे कल्ला शर्मा, रामवीर राठौड़ और उसके बेटे प्रदीप राठौड़ के खिलाफ गैर इरादतन हत्या समेत कई धाराओं में मामला दर्ज किया गया है।

फिलहाल पुलिस ने इस मामले में दर्जनों लोगों को हिरासत में लिया है। पुलिस मेल जाँच कर रही है। गौरतलब है कि प्रदेश में अवैध शराब का धंधा तेजी से फल फूल रहा है। प्रदेश में पिछले नौ महीने की ही बात करे तो इस दौरान जहरीली शराब पीने से 38 लोगो की मौत हो चुकी हैं। लगातार हो रही घटनाओं के बावजूद सरकारी तंत्र शराब के अवैध धंधे को रोकने में नाकाम साबित रहा है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD