[gtranslate]
Country

राम जन्मभूमि विवाद: सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई का आज आखरी दिन

अयोध्या मामले में फैसले की घड़ी नजदीक आती दिख रही है। सुप्रीम कोर्ट में राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद विवाद की नियमित सुनवाई का बुधवार को 40वां और आखिरी दिन है।
90 के दशक से देश की अदालतों में चल रहे अयोध्या के रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद की आखिरी दलील की तारीख सामने है। बुधवार सुप्रीम कोर्ट में हिंदू और मुस्लिम पक्षकारों की तरफ से अपनी-अपनी आखिरी दलील रखी जाएगी, जिसके बाद अयोध्या मामले में फैसले की उम्मीद बढ़ जाएगी।
मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई स्पष्ट कर चुके हैं कि बुधवार को मामले की सुनवाई का 40वां और आखिरी दिन है।  134 साल पहले यह मामला न्यायालय पहुंचा था, 69 साल से मामले की सुनवाई चल रही है। मुख्य न्यायाधीश गोगोई ने आज अयोध्या मामले में एक पक्ष हिंदू माया सभा के हस्तक्षेप के आवेदन को खारिज करते हुए कहा, ‘यह मामला आज शाम को पांच बजे खत्म हो जाएगा। बहुत हो चुका। हम और समय नहीं देंगे।’
चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने रामलला के वकील सीएस वैद्यनाथन को कहा कि अब आपका समय पूरा हो गया है, बैठ जाइए , इसपर वैद्यनाथन ने कहा कि सर कुछ मिनट और इसी दौरान गोपाल सिंह विशारद के वकील रंजीत कुमार खड़े हुए तो मुख्य न्यायाधीश ने उन्हें कहा कि आपको सिर्फ 2 मिनट ही मिलेंगे। क्योंकि कल आपने दो ही मिनट मांगे थे। इसपर रंजीत कुमार ने कहा कि सर, वो तो कल के लिए दो मिनट थे।
अयोध्या विवाद पर 6 अगस्त 2019 से शुरू हुई रोजाना सुनवाई 16 अक्तूबर को खत्म हो जाएगी। 15वीं सदी से यह विवाद अब तक चला आ रहा है। हालांकि इसे प्रमुखता से  1813 में पहली बार उठाया गया।   इलाहाबाद हाईकोर्ट ने साल 2010 में दिए अपने फैसले में विवादित जमीन को तीन हिस्सों में बांटने का फैसला दिया था। जिस पर बाद में सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगा दी।

इसके बाद इसी मामले में विभिन्न पक्षों की ओर से 14 याचिकाएं दाखिल की गईं, जिन पर फिलहाल सुप्रीम कोर्ट सुनवाई कर रहा है। ऐसे में देखा जाए तो 15वीं सदी से चल रहे इस विवाद का अंत अब नजदीक आ गया है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD