[gtranslate]
Country

अयोग्य ठहराए गए कर्नाटक के 17 विधायक

अयोग्य ठहराए गए कर्नाटक के विधायक नारायण गौड़ा ने दावा किया कि मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने उन्हें कृष्णराजपेट निर्वाचन क्षेत्र के विकास के लिए 1,000 करोड़ रुपये दिए थे और उन्होंने उन रुपयों का इस्तेमाल विकास कार्यों के लिए किया I अपने समर्थकों से बात करते हुए उन्होंने कहा, ‘कोई मेरे पास आया और मुझे सुबह 5 बजे (एचडी कुमारस्वामी सरकार गिरने से पहले) बीएस येदियुरप्पा के आवास पर ले गया I जब हम उनके घर में दाखिल हुए तो येदियुरप्पा पूजा कर रहे थे I जब मैं अंदर गया तो उन्होंने मुझे बैठने के लिए कहा इसके बाद उन्होंने कहा कि मैं उनका समर्थन करूं ताकि वह एक बार फिर मुख्यमंत्री बन सकें I गौड़ा ने आगे कहा, ‘मैंने उनसे कृष्णराजपेट निर्वाचन क्षेत्र के विकास के लिए 700 करोड़ रुपये देने को कहा। उन्होंने कहा कि वह 300 करोड़ रुपये और दे देंगे और मुझे एक हजार करोड़ रुपये देने का वादा किया। उन्होंने वो पैसे बाद में दिए भी। क्या आपको नहीं लगता कि मुझे उन जैसे महान आदमी का समर्थन करना चाहिए था, सो मैंने किया। बाद में येदियुरप्पा ने कहा कि हमें अयोग्य विधायकों से कोई लेना-देना नहीं है।’गौड़ा ने ये भी दावा किया है कि एक और पूर्व जेडी-एस विधायक (जो अयोग्य ठहराए गए थे) ने मांडया में ये बयान दिया था कि ‘उन्होंने अपने निर्वाचन क्षेत्र के विकास के लिए येदियुरप्पा सरकार का समर्थन किया था। इससे पहले कांग्रेस पार्टी ने येदियुरप्पा पर विधायकों की खरीद फरोख्त का आरोप लगाया था। दिल्ली के कांग्रेस मुख्यालय में मीडिया से बात करते हुए पार्टी प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा था, “कांग्रेस-जेडीएस विधायकों को तोड़ने की कोशिश करते कर्नाटक के सीएम येदियुरप्पा का वीडियो सामने आया है। पीएम और अमित शाह  के नेतृत्व में बीजेपी ईडी, इनकम टैक्स, सीबीआई जैसी तमाम एजेंसियों का इस्तेमाल कर विपक्षी विधायकों को तोड़ने और सरकारों को हटाने के लिए कर रही है। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा था, “येदियुरप्पा के बयान हम यह समझ सकते हैं कि वे माननीय शीर्ष अदालत का भी दुरुपयोग कर रहे हैं। हम उम्मीद कर रहे हैं कि माननीय सुप्रीम कोर्ट इस मामले को बहुत गंभीरता से लेते हुए कार्रवाई करेगा। कांग्रेस इस नवीनतम साक्ष्य के साथ सुप्रीम कोर्ट जाएगी।

You may also like