[gtranslate]
Country

लाल किले से तय हुआ 2019 का एजेंडा

आजादी की 72 वीं वर्षगांठ लाल किले के प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तिरंगा फहरा कर मनाया। पूरा देश आजादी का यह राष्ट्रीय पर्व मना रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले से देश को सम्बोधित किया। इस कार्यकाल के देश को अंतिम बार सम्बोधित करते हुए प्रधानमंत्री रणनीतिक नहीं राजनीतिक रंग में दिखे। उन्होंने पूरे भाषण में एक तरह से अपने साढ़े चार साल के कार्यकाल का रिपोर्ट कार्ड पेश किया।
उनके भाषण में दक्षिण भारत, पूर्वोत्तर, किसान, महिला, गरीब और आदिवासी सबसे ज्यादा था। तेलंगाना, आंध्रप्रदेश, मणिपुर की बेटियों के बहाने प्रधानमंत्री ने दक्षिण भारत और पूर्वोत्तर को साधने की कोशिश की। पूर्वोत्तर में हो रहे विकास कार्य और उसे दिल्ली के करीब लाने को अपनी उपलब्धि बताया।
प्रधानमंत्री ने वर्तमान कार्य गति को 2013 के कार्य रफ्तार से तुलना किया और कहा कि शौचालय बनाने की रफ्तार यदि 2013 की होती तो जितना शौचालय चार सालों में बना उतना बनने में 2 दशक लग जाता। इतनी ही गति से गाओं में बिजली भी पहुंचाई है।
किसानों को उनकी लागत से डेढ़ गुणा मूल्य दिया। अब सरकार किसानों को दो गुणा मूल्य देने पर काम कर रही है। उन्होंने कहा हमारा पूरा ध्यान कृषि में आधुनिकता लेने का है। बीज से लेकर बाजार तक वैल्यू एडिशन होगा। स्वच्छता अभियान का मजाक उड़ाने वाले को डब्लूएचओ के एक रिपोर्ट का जिक्र कर जवाब दिया। उस रिपोर्ट में कहा गया कि स्वच्छता अभियान के कारण भारत में 3 लाख बच्चों की जान बची है। प्रधानमंत्री ने जन आरोग्य योजना की शुरुआत करने की घोषणा की। यह योजना दीन दयाल उपाध्याय की जयंती 25 सितम्बर को शुरू किया जाएगा। छह महीने इसका टेस्टिंग किया जाएगा। आयुष्मान योजना के तहत 10 करोड़ लोगों को लाभ मिलेगा। अब कोई गरीब इलाज की कमी से नहीं मरेगा। उन्हें मुफ्त इलाज मिलेगा।
प्रधानमंत्री ने टैक्स देने वाले लोगों को भी कहा कि आपके टैक्स से देश चल रहा है। उन्होंने कहा एक ईमानदार करदाता के पैसे से 3 गरीब का पेट भरता है। जीएसटी के लाभ गिनाए। सिस्टम से भ्र्ष्टाचार को खत्म करने के लिए यदि हमें कोई भी कीमत चुकानी पड़े, हम उसके लिए तैयार है। लेकिन कालाधन जमा करने वाले को छोड़ने वाला नहीं हूं, ऐसा प्रधानमंत्री ने कहा। सुप्रीम कोर्ट में तीन महिला जज और अपनी कैबिनेट में इतिहास का सबसे ज्यादा महिला मंत्री का जिक्र कर महिलाओं को लुभाया। सेना में सॉर्ट सर्विस कमीशन के तहत नियुक्त महिलाओं को पुरुषों के समान सुविधा और स्थाई कमीशन देने का एलान किया। मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक कानून का भी जिक्र किया। जिसे विपक्ष के कारण संसद में बिल पास नहीं किया जा सका।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले से 2019 चुनाव की रूपरेखा तैयार कर दिया है। ‘सबका साथ, सबका विकास’ के नारे को फिर से दोहराया। उनके संबोधन ने यह तय कर दिया कि 2019 का चुनाव भाजपा किसान, महिलाओं, युवाओं, मुस्लिम महिलाओं, ओबीसी को अपनी योजना से लुभा कर फतह करने की योजना बनाई है।

You may also like

MERA DDDD DDD DD