Country

पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह बोले मेरी एंट्री से दो पावर सेंटर की बात बेमानी

राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह ने 87 वर्ष की उम्र में फिर से सक्रिय राजनीति में वापसी की है। उन्होंने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सदस्यता ग्रहण की। आज तक से खास बातचीत में कल्याण सिंह ने कहा कि यूपी की रानजीति में मेरे आने से दो पावर सेंटर नहीं होंगे, ये बात करना बेमानी होगी। मैं पार्टी में मार्गदशक या संरक्षक की भी भूमिका में नहीं रहूंगा, सिर्फ सहयोगी के तौर पर काम करूंगा।उन्होंने कहा कि मैं सामान्य कार्यकर्ता के नाते पार्टी को और अधिक मजबूत बनाने का काम करूंगा।

मैं यहां किसी का प्रतियोगी या विरोधी बनकर नहीं आया हूं। मैं कार्यकर्ता, पदाधिकारी, केंद्रीय नेतृत्व, प्रदेश नेतृत्व के सहयोगी के तौर पर आया हूं और कार्यकर्ता के तौर पर काम करता रहूंगा। पूर्व मुख्यमंत्री बोले योगी सरकार में एक भी दंगे नहीं हुए। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं मानता हूं कि राजनीति जनसेवा का सशक्त माध्यम है, इसी वजह से मैंने खुद को राजनीति से अलग नहीं किया है। यूपी की राजनीति बहुत अच्छी है, जब से योगी आदित्यनाथ ने कार्यभार संभाला है तब से गांव, गरीब और आम लोगों में गुणात्मक परिवर्तन आया है।

वहीं, सीबीआई मामले के सवाल पर यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह ने कहा कि सीबीआई का जब कोई नोटिस या समन आएगा तब मैं कोर्ट में हाजिर रहूंगा और वहीं अपनी दलील रखूंगा। फिलहाल मीडिया के सामने कुछ नहीं कह सकता। राम जन्मभूमि मसले पर कल्याण सिंह ने कहा कि अयोध्या करोड़ों लोगों की आस्था का तीर्थ स्थल है। मैं भी उन करोड़ों लोगों में से एक हूं और मेरी भी इच्छा है कि वहां राम का मंदिर बने, लेकिन मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है इसलिए कोर्ट के फैसले का इंतजार करना होगा। सीबीआई ने लखनऊ की विशेष अदालत में अर्जी दाखिल की है। अयोध्या में 6 दिसंबर 1992 को बाबरी मस्जिद ढांचा ढहाने की साजिश के लिए पूर्व उप प्रधानमंत्री लाल कृष्ण आडवाणी, पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, भाजपा के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती एवं अन्य आरोपियों के मुकदमे की सुनवाई हो रही है।

You may also like