fnYyh uks,Mk nsgjknwu ls izdkf'kr
चौदह o"kksZa ls izdkf'kr jk"Vªh; lkIrkfgd lekpkj i=
vad 14 23-09-2017
 
rktk [kcj  
 
मिसाल
 
सरहद पार सेवा

  सेवा सरहद की मोहताज नहीं होती। इसे ब्रिटेन की नागरिक जोडी अंडरहिल के उदाहरण से भी समझा जा सकता है जिसने आपदा के समय राहत शिविर में जमा कूड़ा-कचरा को साफ कर सुर्खियां बटोरी हैं। वह देहरादून में पिछले कुछ समय से साफ-सफाई के अभियान में जुटी हैं। उनका जज्बा प्रदेश और देशवासियों के लिए एक दृष्टांत है।

 

उत्तराखण्ड में आई तबाही के बाद जब सेना बचाव और राहत कार्य में जुटी हुई थी और स्थानीय लोग देहरादून में अपनों का इंतजार कर रहे लोगों की सेवा में व्यस्त थे। इस बीच खाना पानी और जरूरी सामानों से शिविरों में कूड़े का अंबार लग गया। जो अपने आप में एक बड़ी समस्या हो गई थी। ऐसे में एक विदेशी लड़की कूड़ा-कचड़ा हटाने में जुटी रही। वह लड़की ब्रिटेन की नागरिक है। इसे लोग गार्बेज गर्ल यानी कूड़ा बटोरने वाली लड़की के नाम से पुकारते हैं। गंदगी की बिना परवाह किए खुद को गार्बेज गर्ल यानी जिसका असली नाम जोडी अंडरहिल है कहती हैं मैं यहां हर जगह गंदगी देखकर सन्न रह गई। यहां बड़ी मात्रा में मानव जनित कचरा पड़ा था। स्थानीय नागरिकों और अधिकारियों की पहली प्राथमिकता फंसे लोगों को बचाना रहा लेकिन मेरा ध्यान यहां जमा हुए कचरे पर था।

 

जोडी अंडरहिल ने देहरादून में पिछले कुछ दिनों से साफ- सफाई अभियान चला रखा है। उनका पालन-पोषण ब्रिटेन में हुआ है लेकिन पिछले कई वर्षों से वह भारत में हिमालय के इलाकों में काम कर रही हैं। अपने साथियों के साथ मिल कर जोडी देहरादून और धर्मशाला में कूड़ा हटाने और लोगों को जागरुक करने का काम करती हैं। कुछ साल पहले जब जोडी भारत आईं तब पहाड़ी इलाकों में गंदगी का स्तर देख कर उन्हें काफी दुख हुआ। खास कर प्लास्टिक को लेकर लोगों में जागरूकता का भयंकर अभाव देखकर जोडी ने यहीं रह जाने का मन बना लिया और अपने स्तर पर गंदगी से सने इलाकों में साफ-सफाई का काम करना शुरू किया।

 

हाथों में दस्ताने पहने वो खुद गंदगी भरे इलाकों में जाकर उसे साफ करती हैं। अब जब उत्तराखंड में प्राकृतिक आपदा आई है तो जोडी मदद कायोर्ं में कूद पड़ी हैं। वह लोगों को बचाने या उनकी मदद का काम नहीं कर रहीं बल्कि ऐसे काम में लगी हैं जिसे लोग करने में शर्मिंदगी महसूस करते हैं। हैलीपैड पर बाढ़ पीड़ितों की संख्या उनकी मदद के लिए लोग-सब अपने पीछे इतना कचरा छोड़ गए कि उसे हटाना भी मुश्किल। जो बीमारी का ही कारण बनता जा रहा था। जोड़ी अंडरहिल ने उसे हटाने का प्रण लिया और अकेले ही उस काम में जुट गईं। वे जानती हैं कि इसके लिए सरकारी संस्थान भी नाकाफी हैं।

 

जोडी वेस्ट वॉरियर्स नाम का संगठन चलाती हैं। हाथ में झाड़ू लिए और दस्ताना पहने वो खुद गंदगी भरे इलाकों में जाकर उसे साफ करती हैं। धीरे-धीरे उनके काम को देख लोग उनके संगठन से जुड़ने लगे। जोडी कहती हैं कि उन्हें ये काम करने में कोई शर्म महसूस नहीं होती। अपना देश छोड़ कर कई सालों से भारत के पहाड़ों को ही अपना घर बना चुकी जोडी उत्तराखण्ड की त्रासदी से बेहद दुखी हैं। वह कहती हैं हमने पर्यावरण का इतना निरादर किया है अब कुदरत ने हमें चेतावनी दी है। नतीजतन इतने लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। जोडी कहती हैं कि यदि आप ईश्वर से प्रेम करते हैं तो आपको इसका प्रदर्शन करने के लिए तीर्थ यात्रा पर जाने की जरूरत नहीं रह जाती। चढ़ावा चढ़ाने से कहीं ज्यादा अच्छा अपने से कमजोर के प्रति कुछ दया दिखाना है। आप ईश्वर का अनुग्रह नहीं खरीद सकते लेकिन आप उनकी बनाई धरती का सम्मान कर उन्हें खुश जरूर कर सकते हैं। 

 

फिलहाल तो वो देहरादून में हैलीपैड के पास साफ-सफाई में लगी हैं लेकिन जोडी मानती हैं कि समस्या कहीं ज्यादा गंभीर है। जोडी कहती हैं जब बचाव कार्य समाप्त हो जाएगा। और बाकी इलाकों में जब पहुंचना शुरू करेंगे तो पता चलेगा कि कितनी गंदगी ऊपर से बहकर जमा हो गई है। गांव दोबारा बसाने हैं तो गंदगी साफ करनी होगी। ये चुनौतीपूर्ण काम होगा। हम इसी की तैयारी कर रहे हैं। जोडी आगाह करती हैं कि बहुत से लोग मदद करने के लिए पहुंच रहे हैं लेकिन अभी न रास्ते हैं न खाने-पीने का सामान। हमें योजनाबद्ध तरीके से काम करना होगा। अभी तो शुरुआत है। बहुत काम करना बाकी है। इसलिए मदद करने की इच्छा रखने वाले लोग समन्वय के साथ चलें। पान की पीक गंदे नालों का कूड़ा किसी भी तरह की गंदगी साफ करते हुए जोड़ी नहीं हिचकती। फिलहाल उनकी पहली प्राथमिकता उत्तराखण्ड है। 

 

उत्तराखण्ड की इस त्रासदी में जिस तरह से जोडी अंडरहिल ने पहल की है वह केवल काबिले तारीफ ही नहीं बल्कि उत्तराखण्डवासियों के लिए एक मिसाल है। 

 

 

 
         
 
ges tkus | vkids lq>ko | lEidZ djsa | foKkiu
 
fn laMs iksLV fo'ks"k
 
 
fiNyk vad pquss
o"kZ  
 
 
 
vkidk er

क्या मुख्यमंत्री हरीश रावत के सचिव के स्टिंग आॅपरेशन की खबर से कांग्रेस की छवि प्रभावित हुई है?

gkW uk
 
 
vc rd er ifj.kke
gkW & 68%
uk & 14%
 
 
fiNyk vad

  • सिराज माही

बॉलीबुड की एक्ट्रेसेस हों या हॉलीवुड की दोनों हर खास मौकों पर फोटोशूट करवाती हैं। ये एक्ट्रेसेस अपने गॉर्जियस फोटोज को अपने फैन्स के बीच

foLrkkj ls
 
 
vkidh jkf'k
foLrkkj ls
 
 
U;wtysVj
Enter your Email Address
 
 
osclkbV ns[kh xbZ
1827772
ckj