fnYyh uks,Mk nsgjknwu ls izdkf'kr
चौदह o"kksZa ls izdkf'kr jk"Vªh; lkIrkfgd lekpkj i=
vad 50 02-06-2018
 
rktk [kcj  
 
सियासी चकल्लस 
 
ना का सवाल बना कैराना

फूलपुर और गोरखपुर से अपनी सीट गंवाने वाली भाजपा के सामने अब कैराना लोकसभा क्षेत्र का उपचुनाव है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश की सीट पर उपचुनाव होने जा रहा है। कैराना भाजपा सांसद हुकुम सिंह और नूरपुर के भाजपा के विधायक लोकेंद्र सिंह की मृत्यु के बाद इन दो सीटों पर। २८ मई को चुनाव होना है। माना जा रहा है कि कैराना में होने वाला उपचुनाव यह तय करेगा कि २०१९ में लोकसभा चुनाव की दिशा क्या होगी। इस उपचुनाव में तमाम भाजपा विरोधी दलों का धुव्रीकरण हो गया है। कांग्रेस ने कैराना लोकसभा उपचुनाव और नुरपूर विधायक उपचुनाव में उम्मीदवार नहीं उतारने का फैसला किया है। वह गोरखपुर की गलती नहीं दोहराएगी। पार्टी का कहना है कि दोनों सीटों पर विपक्षी एलायंस की जीत है] यही पार्टी चाहती है। वैसे भी इस क्षेत्र से कांग्रेस का आधार मजबूत नहीं है। गोरखपुर-फूलपुर लोकसभा उपचुनाव में सपा-बसपा गठबंधन को जबरदस्त कामयाबी मिली थी। भाजपा को चारों खाने चित होना पड़ा था। बसपा-सपा की दोस्ती कायम रहेंगे। बसपा प्रमुख मायावती ने कहा है कि २०१९ में केंद्र में भाजपा को आने से रोकने के लिए उनकी सपा से दोस्ती बरकरार रहेगी। पहले रालोद के जयंत चौधरी यहां से उम्मीदवार बनने वाले थे। अब विपक्षी मोर्चो ने रालोद के तबस्सुम को उम्मीदवार बनया। उत्तर प्रदेश में जिस कदर राजनीति बदल रही है और समीकरण के हिसाब से अंक गणित बदल रहा है। उससे अगले इस उपचुनाव के साथ-साथ २०१९ के लोकसभा चुनाव में मुश्किलें खड़ी होने वाली हैं।

 

तीसरे मोर्चे की कवायद

अगले लोकसभा चुनाव में अभी साल भर देरी है। लेकिन भाजपा और वह भी खासकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ मोर्चेबंदी की कोशिशें तेज हो गई हैं। भाजपा विरोधी दलों को यह बात शिद्दत के साथ अहसास हो गई है कि उनके बिखराव की स्थिति में मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनने से कोई नहीं रोक सकता। अभी नए राज्य बने तेलांगना के मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव ने हिंदी प्रदेश के अखबारों को अपना राज-काज का विज्ञापन दिया। कर्नाटक चुनाव के ठीक एक-दो दिन पहले। इसे मोदी के खिलाफ धु्रवीकरण के रूप में ही देखा जा रहा है। तेलंगाना के बहुत से लोग कर्नाटक में रहते हैं और वे वहां के चुनाव को प्रभावित करने की स्थिति में भी हैं। यह वही चुद्रशेखर राव हैं जिन्होंने अखिलेश को समर्थन देने का वादा किया हैे। अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले तीसरे मोर्चे को लेकर राव ने उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मुलाकात भी की। दोनों की इस बात पर सहमति है कि देश मौजूदा सरकार से खुश नहीं है] लोग बदलाव चाहते हैं। राव ने १० मई को हैदराबाद में कई क्षेत्रीय दलों के प्रमुखों को बुलाया। राव तीसरे मोर्चे के प्रति बेहद गंभीर मालूम हो रहे हैं।

रेखा का विस्तार

उत्तराखण्ड में भाजपा नेत्री रेखा आर्या अक्सर ही चर्चाओं में विभिन्न वजहों से बनी रहती हैं। इन दिनों वह प्रदेश की त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार में मंत्री हैं। लेकिन उनका मंत्री बने रहना ही काफी नहीं है। लोग बताते हैं कि वह बहुत महत्वाकांक्षी हैं। इसके पीछे उनके पति गिरधारी लाल साहू की बड़ी भूमिका मानी जाती है। अब खबर यह है कि रेखा आर्या का मन प्रदेश से निकलकर राष्ट्रीय राजनीति में आने का है। उन्होंने अल्मोड़ा-पिथौरागढ़ से २०१९ का लोकसभा चुनाव लड़ने का मन बना लिया है। फिलहाल वहां से अजय टम्टा सांसद हैं और केंद्र में राज्यमंत्री भी है। जाहिर सी बात है कि सांसद इस चर्चा से बेहद आहत हैं। वे इस बात से आशंकित हैं कि अगले लोकसभा चुनाव में उनका टिकट कट सकता है। हालांकि अजय टम्टा की छवि स्वच्छ है और वे टम्टा  जनता के करीब माने जाते हैं। इस क्षेत्र के प्रतिनिधि के तौर पर भी उनका काम संतोषजनक है। लेकिन राजनीति में अच्छा-बुरा का भेद कहां] कायम रखता है। सियासी हलकों में यह सरगोशियां हैं कि रेखा आर्या को टिकट मिलना तय है।इसके पीछे वजह बताई जाती है कि उनकी भाजपा के एक राष्ट्रीय नेता से नजदीकियां हैं। इस वजह से अजय टम्टा का टिकट कट सकता है। अगर ऐसा होता है तो सवाल उठता है] क्या भाजपा के बागी उम्मीदवार के तौर पर अजय टम्टा सामने आ सकते हैं। यह भी कि क्या वहां भितरद्घात का मामला भी बन सकता है।

 

 

 
         
 
ges tkus | vkids lq>ko | lEidZ djsa | foKkiu
 
fn laMs iksLV fo'ks"k
 
 
fiNyk vad pquss
o"kZ  
 
 
 
vkidk er

,क्या उत्तराखंड में ऐसी कोई सरकार आयेगी जो जंगलों को जलने से रोक सके

gkW uk
 
 
vc rd er ifj.kke
gkW & 1%
uk & 23%
 
 
fiNyk vad

  • जीवन सिंह टनवाल

आईपीएल के मौजूदा सीजन में ही महिला आईपीएल की भी भूमिका तैयार हो गई है। प्लेऑफ मुकाबलों से पहले ही महिला क्रिकटरों का जो प्रदर्शनी मुकाबला

foLrkkj ls
 
 
vkidh jkf'k
foLrkkj ls
 
 
U;wtysVj
Enter your Email Address
 
 
osclkbV ns[kh xbZ
2227559
ckj