fnYyh uks,Mk nsgjknwu ls izdkf'kr
चौदह o"kksZa ls izdkf'kr jk"Vªh; lkIrkfgd lekpkj i=
vad 23 25-11-2017
 
rktk [kcj  
 
टॉक ऑन टेबल 3
 
^मैं राजनीतिक वेश्या नहीं^

अपूर्व जोशी % खसरा खतौनी हो चुकी है\

उसके बाद आखिलेश ने हमसे पूछा कि आप किसके साथ हैं। हमने कहा हम मुलायम सिंह के साथ हैं। तुम मुलायम के बेटे हो इसलिए तुम्हारे साथ भी हैं। उसी दिन मेरे भाग्य का निर्धारण हो गया। लेकिन जब तलवारें खिंच गईं। सब कुछ हो गया। क्योंकि इसकी परिणति होनी थी। और अन्त में मुलायम सिंह ने कह दिया कि आप भावना के लिए राजनीति छोड़ते हैं और हम राजनीति के लिए सब कछ छोड़ते हैं। इसलिए आपसे निवेदन है कि आप हो सके तो सिंगापुर या लंदन चले जाइए। और चुनाव में आइए। मतलब जिला बदर भी नहीं देश बदर। मैने कहा और कुछ चुनौती है अगर मुलायम सिंह सुन रहे हैं या पढ़ रहे हों तो सामने आकर बोल दें कि अमर सिंह झूठे हैं। एक शब्द भी झूठ नहीं।

अपूर्व जोशी% राजनीति में आपने सक्रियता कम कर दी है। और संन्यासी सत्ता में आ गए हैं। तो कहीं आप संन्यास की तरफ मुखातिब तो नहीं हैं\

देखिए यह भोग भी एक तपस्या है। तुम त्याग के मारे क्या जानें। चाहे दुभोग हो या सुभोग। जब अर्जुन को अपने शस्त्र पेड़ में छुपाने पड़े] वृहनल्ला बनना पड़ा] तो मैं अमर सिंह हूं। प्रदीप के गीत की एक पुरानी पंक्ति है। कोई लाख करे चतुराई करम का लेख मिटे नहीं।

अपूर्व जोशी % आपकी बेबाकी को सलाम। अगर आपकी बायोग्राफी आएगी तो बड़ी विस्फोटक होगी\ 

प्रीत पाल कौर % आपकी आपकी बायोग्राफी आनी चाहिए\

अपूर्व जोशी % बायोग्राफी तो बम हो जाएगी\

मेरी बात रिंकी सरकार से हुई। मैं रिंकी सरकार की बेटी का मित्र हूं। पूरी बात करके मैं उसमें कोई गलत नहीं बोलूंगा। जिसके प्रमाण मिले तो भारतीय दंड संहिता के अंतर्गत मुझे दण्ड जरूर मिलेगा। दूसरी बात मैं बच्चन जी की आत्मकथा से बहुत प्रभावित हूं। या तो आत्मकथा लिखो मत। या तो एक दम सत्य लिखो। एक संशय है। तीसरी बात मेरे अंदर थोड़ा लालच भी है। शायद मेरी पारी बाकी है। मेरी अगर पारी बाकी है] तो थोड़ी प्रतीक्षा करनी है। ज्यादा नहीं अगर वह पारी है तो खेल लूंगा। हमारा यह है कि अवसर मिलेगा तो छोडूंगा नहीं। और अवसर नहीं मिला तो किसी के पीछे प्रार्थना पत्र लेकर भागूंगा नहीं।

आकाश नागर % उत्तर प्रदेश में बसपा के बारे में आपकी क्या राय है\

मैं जाग्रत देवी से कुछ कहने की स्थिति में नहीं हूं। वह कहती हैं कि कलस्टर की प्रतिमाएं तुम्हारे चढ़ावे को भोग नहीं सकती। मैं जाग्रत देवी हूं। मुझे हर प्रकार के भोग को आत्मसात करने की अद्भुत विधा का विलक्षण ज्ञान है।

राजकुमार भाटी % अगर मुलायम परिवार में फिर से सबकुछ सामान्य हो जाता है तो क्या आप जाएंगे\

जीवन में कभी नहीं। मैं दूसरों के ?kj पर बर्तन साफ कर लूंगा॥ लेकिन मैं मुलायम से कोई संबंध नहीं रखता। अखिलेश यादव को मैं अपना हितैषी मान ही नहीं सकता। जिस बालक को मैंने अपने बेटे से ज्यादा प्यार किया। जिसके लिए उसके पिता से लड़ा। उसके विवाह के लिए। जिसका विवाह उसके पिता ने नहीं मैंने किया। ऑस्ट्रेलिया में पढ़ाने मैं लेकर गया। 

अपूर्व जोशी % डिंपल जी का विवाह हुआ तो मुलायम खिलाफ थे\सबसे ज्यादा खिलाफ मुलायम सिंह थे। 

प्रीत पाल कौर % वह क्यों खिलाफ थे\

अंतरजातीय विवाह। मुलायम कहते थे लालू की बेटी से करो। सुभाष यादव की बेटी से करो। इस मामले में मैं अखिलेश की तारीफ करूंगा। उसने कहा मैंने प्रेम किया है। अखिलेश ने मुझे बताया कि मैं ऐसी लड़की से विवाह करना चाहता हूं। आज वही लड़की कहती है कि अमर सिंह आए तो मैं टीवी बंद कर लेती हूं। आप सोचिए मेरी पीड़ा यह है। अखिलेश के विवाह में मुलायम सिंह अतिथि की तरह आए थे। और मुझे बहुत धमकाया था। लखनऊ का भोज] दिल्ली को भोज मैंने दिया। राष्ट्रपित को] प्रधानमंत्री को] सारे सिनेमा के कलाकारों को मैंने आमंत्रण दिया था। वह लड़का इस तरह से बात करेगा। हमारी तस्वीर पर पेशाब करेगा। हमें मां बहन की गाली देगा। मैं श्राप देता हूं उसे ईश्वर उसका कर्मफल इसी जीवन में देगा।

राजकुमार भाटी % भतीजे को कोई माफी नहीं है\

उसने कहा कोई अंकल नहीं है। आत्मा जिसकी इतनी खराब हो वह क्षमा के लायक नहीं। दंड मैं नहीं दूंगा नियति देगी।

राजकुमार भाटी % जो भतीजा चाचा का इतना प्यारा रहा उससे नाराजगी के क्या कारण रहे\

हम उसके पिता के साथ खड़े हैं] हम या शिवपाल अखिलेश नाम के गजराज के अंकुश हैं। ताकि माहौल मुलायम सिंह के नियंत्रण में रहे। इस गजराज ने सूंड़ उठाकर के महावत को ही पटक दिया।

आदेश भाटी % लेकिन एक बात अखिलेश माफियागिरी का विरोध करते हैं। इसी वजह से सपा के दो गुट हुए\

अच्छा! वह तो गायत्री प्रजापति का समर्थन करते हैं। उसको टिकट दे दिया। बलात्कारी को] अवैध खनन में लिप्त। उससे बड़ा माफिया कौन है। वह उन माफियाओं का विरोध करते हैं जो उनके चरण नहीं छूते। बडे सदाचारी और गुणवान लोग हैं। बोलो मत] बोलने से पहले सोचो कि किसके सामने बोल रहे हो। तुम्हारे हर ईंट प्रश्नों का जवाब यह व्यक्ति जिसका नाम अमर सिंह है बड़े-बड़े पत्थरों से देगा।

अपूर्व जोशी % जैसे नेता जी आखिरी दांव गुरूजी को नहीं सिखा पाए ऐसा क्या हुआ कि हाथी ने महावत को पटक दिया\

यह वह अभिमन्यु है जो मां के पेट में सारे चक्रव्यूह को समझ गया है।

राजकुमार भाटी % अच्छा पॉलीटिकल रूप से चर्चा चल रही है कि २०१९ चुनाव में सपा-बसपा साथ नहीं लड़ सकते\

हमारे पूर्वी उत्तर प्रदेश में कहावत है। मूस मोटी होई और कार्तिक लोढ़ा होई।

आकाश नागर % अखिलेश और मुलायम में जब पिछले दिनों लड़ाई चल रही थी तब अखिलेश ने आपके खिलाफ बोला था तो मुलायम ने कहा था कि नहीं अखिलेश उनके खिलाफ नहीं बोलना है। परिवार पर] हम पर उनके बहुत एहसान हैं। चर्चा चली कि आपने मुलायम को सीबीआई जांच से बचवाया था। वह स्पष्ट नहीं हो पाया।

मैं आपको क्यों बताऊं कि मैंने क्या किया। आप हैं कौन। और आपकी अगर जिज्ञासा है जानने की तो आप अपनी जिज्ञासा अपने पास रखिए। व्यक्तिगत जीवन है। और नेकी कर दरिया में डाल। पहले ये बात समझ नहीं आई थी अब आई है। तो मैंने जितनी नेकी जिसके साथ की वह दरिया में डाल भूल चुका हूं।


  मैं अपने अतीत के बुरे दिनों] शोभनीय- अशोभनीय दिनों को छुपाता नहीं। जीवन की पाठशाला में वे बड़े रोचक दिन थे। जब कलकत्ता विश्वविद्यालय के प्रेसीडेंसी कॉलेज के सामने वाले परिसर में नक्सली नेता कानू सान्याल और चारु मजूमदार से भेंट होती थी। महाश्वेता देवी के ^हजार चौरासीवें की मां^ के चरित्रों से मिलने का अवसर मिला। मुझे लगता है कि जिनको लोग भटकाववादी और अलगावादी कहते हैं उनके चरित्र में और मानसिकता में पवित्रता है। इसलिए नक्सलवाद पर जो फिल्म बनी है वह सत्यता के बहुत नजदीक है] उसमें उनके रास्ते के भटकाव का चित्रण है। लेकिन उनकी आत्मा की शुद्धता की भी बात है। वह अनुभव के दिन थे।


हमने अमिताभ के लिए कुछ भी नहीं किया है। क्योंकि जिस स्तर की मदद मैंने अमिताभ के लिए की उस स्तर को पागलपन कहते हैं। पागलपन आपका उस स्तर का होता है जिस स्तर का अपनी प्रेयसी के लिए होता। लोग ताजमहल बनवाते हैं। देवानंद साहब की एक फिल्म आई थी ^हम दोनों^। पुरानी फिल्मों में साहित्य होता था। उसमें एक पंक्ति थी] ^कौन रोता है यहां किसी के खातिर ऐ दोस्त] सबको अपनी बात पर रोना आया] बात निकली तो हर बात पर रोना आया] कभी हालात पर रोना आया।^ मैं कहूं जो आप लोग कहते हैं कि अमिताभ की मदद की। मदद एक व्यक्ति के जीवन में एक विशेष कार्य के लिए होती है। पूरे जीवन का ही ठेका लें वह मदद नहीं।


 मुझे सिनेमा और साहित्य शुरू से बहुत अच्छा लगता है। मैंने अपनी युवावस्था में अज्ञेय की कृति ^शेखर एक जीवनी^ को पढ़ा। इंग्लिश ऑनर्स करते हुए ^कामायनी^ को पढ़ना शुरू किया और जिस भाव] अभिव्यक्ति के बहुत भोलेपन की बात कर रहा हूं नारी की उस त्रासदी को जयशंकर प्रसाद जी ने बखूबी चित्रित किया। उनकी ^मैं सबसे हारी हूं^ कविता मुझे बहुत पसंद है। कुछ छोड़ा नहीं। छायावाद क्या है। प्रगतिवाद क्या है। सब पढ़ गया। मुझे याद है एक बार कोलकाता गया था मैं। वहां मेरे दादाजी रहते थे। निरालाजी वहां रहने आए थे। हमारे दादाजी के पास। दादाजी ने बताया निराला एकदम दरिद्र जैसे थे। शुरू में मुझे याद है। अब तो उनकी कविताएं हम पढ़ते हैं। मुझे लगता है कि उनकी उस दरिद्रता के पीछे उनका अहंकार कैसा रहा होगा। उनकी जो रचनाएं हैं ^सुन बे गुलाब^ सेठों पर तंज है। 


मेरी अमिताभ से मित्रता जया जी के कारण हुई। जया में यह गुण है कि बड़ी स्थिरप्रज्ञ हैं। अमिताभ की तरह नहीं हैं। चाहे स्वार्थ हो] परमार्थ हो] वह जो ठान लेती हैं करती हैं। अगर वह बुरा करना है तो बुरा करेंगी और भला करना है तो भला करेंगी। अगर उन्होंने एक धारणा बना ली कि अमर सिंह को धोखा देना है तो हमें धोखा देने की प्रक्रिया बड़ी तन्मयता से करेंगी। अगर सोच लिया कि हमें साथ देना है तो वह साथ निभाएंगी। जया बच्चन एक बार गोवा में हमारे साथ अकेले छुट्टी बिता रही थीं तो उन्होंने कहा अमर सिंह जी एक बात बताऊं\ मैंने कहा बताओ। जितना आप लोगों के लिए करते हैं उतना आप आशा मत करना कि लोग आपके साथ करेंगे। तो ऐसा नहीं है कि जया बच्चन में सिर्फ बुराई है। जया बच्चन अपने परिवार की पहली मूल स्टार हैं।


 मैं राजनीतिक वेश्या थोड़े हूं कि आप हमारा भोग भी करना चाहें और स्वीकार भी ना करना चाहें। मैंने कहा मैं आऊंगा ही नहीं और आपसे बात ही नहीं करूंगा। खुलेआम कह रहा हूं। ऑन रिकॉर्ड कह रहा हूं। और मैं चुनौती दे रहा हूं मुलायम सिंह मना कर दें। चुनौती दे रहा हूं कि मुलायम सिंह जी कहीं हों तो सुनें मेरी बात।


 एक पत्रकार हैं] अभी भी वह जीवित हैं। हरिशंकर व्यास। वो जनसत्ता में कॉलम लिखते थे। मेरे बारे में लिखा कि एक चिरकुट आजकल चंद्रशेखर के इर्द-गिर्द बना रहता है। चंद्रशेखर तो प्रधानमंत्री हो गए। उन्होंने अपनी कैबिनेट के साथ मेरे ?kj खाना खाने आने की बात कही। मैंने कहा कि चंद्रशेखर जी मेरे ?kj में जगह ही नहीं है। उन्होंने कहा कि तुम्हारा ?kj हमने देखा है। जहां पर गाड़ी है वह गाड़ी बाहर करो और वहां पर कैटरिंग करो। मैंने कहा मेरे पास पैसा नहीं है। बोले अरे यार हम प्रधानमंत्री हो गए हैं। हम जिसको बोलेंगे वह खड़ा हो जाएगा। शाम को पूरी कैबिनेट आ गई। चंद्रशेखर जी आए। मैंने कहा अरे इसकी क्या जरूरत थी। उन्होंने कहा जरूरत थी। आप समझा कीजिए। फोन लगाया हरिशंकर व्यास को। अरे भाई तुमने लिखा था अमर सिंह चिरकुट है। अब न लिखना कि वह चिरकुट है। प्रधानमंत्री ने शपथ लेने के बाद पूरी कैबिनेट के साथ पहला खाना वहां खाया है। तो अब लिखना प्रधानमंत्री के दोस्त। तो यह है चंद्रशेखर जी का चरित्र।


 अगर विश्व बैंक की रिपोर्ट के अनुसार मोदी यह कहते हैं भारत के स्तर में सुधार आया है। अभी से उसकी निंदा की जाए तो ठीक नहीं है। मैं उनके गुण नहीं गा रहा हूं इसलिए कह रहा हूं क्योंकि उनका काउंटर कोई पैदा नहीं हुआ।


 राहुल गांधी और प्रियंका गांधी का जो प्यार है बहुत अटूट है। राहुल गांधी को लोग पप्पू कहते हैं। लेकिन वह कुछ भी हों] पप्पू नहीं हैं। राहुल गांधी अध्ययन करने वाला व्यक्ति है। राहुल गांधी की सबसे बड़ी समस्या भाषा है। वह अंग्रेजी में सोचते हैं और हिंदी में उसका अनुवाद करते हैं। उनकी जो भाव अभियक्ति है वह अंतर्मन से नहीं है। उनको भारत में अगर राजनीति करनी है तो उनको भारत की भाषा] भारत का भोजन और लोक भूषा अपनानी होगी। लोक भूषा तो वह कुर्ता पाजामा पहनते हैं। मैं आज खुले आम कह रहा हूं। मोदी से मेरे रिश्ते हैं। मैं छुपाता नहीं। गुजरात के भावनगर में राज परिवार में मेरी शादी हुई है। अक्षरधाम के माध्यम से मेरे उनसे संबंध रहे हैं। प्रधानमंत्री बनने के बाद हमारी ?kfu"Brk नहीं रही। नरेंद्र मोदी से मेरे व्यक्तिगत संबंध बहुत अच्छे रहे हैं।


चिंदबरम ने] ^लुंगीधारी चिंदबरम^ ने मणिधारी सांप की तरह दिल्ली पुलिस को यह आदेश दिया कि अमर सिंह को बंद करो। दिल्ली पुलिस कमिशनर को कहकर हमें जेल भेजने का काम किया श्वेत लुंगीधारी पी चिंदबरम ने। वह सैडिस्ट है। हमारी दो-दो बच्चियां रोती-बिलखती रहीं। पत्नी विक्षिप्त हो गई हैं उस
?kVuk के बाद। कोई अनिल अंबानी नहीं आया] कोई अमिताभ-मुलायम सिंह नहीं आया] उनकी पत्नी नहीं आईं मदद को और अहमद पटेल ने तिहाड़ जेल में बंद करवा दिया। नैतिकता की बात करते हैं] बड़ेपन की बात करते हैं] लेकिन मदद को कोई कांग्रेसी नहीं आया। अहमद पटेल को फोन किया तो लाइन काट दिया। सोनिया गांधी बाहर से लौटीं तो सहानुभूति के दो बोल बोले। प्रियंका ने कहा कि गलत हो रहा है और राहुल गांधी के नाक के बाल जितेंद्र सिंह कहते हैं हम दागी हैं। जिसके लिए चोरी की वही कहे चोर हैं। मैं नरेंद्र मोदी को प्रणाम करता हूं। फिर इनको खुजली हो जाएगी। नरेंद्र मोदी न्यूक्लियर डील को भी आगे बढ़ा रहे हैं। और जीएसटी को भी आगे बढ़ा रहे हैं।


 मैं दूसरों के ?kj पर बर्तन साफ कर लूंगा॥ लेकिन मैं मुलायम से कोई संबंध नहीं रखूंगा। अखिलेश यादव को मैं अपना हितैषी मान ही नहीं सकता। जिस बालक को मैंने अपने बेटे से ज्यादा प्यार किया। जिसके लिए उसके पिता से लड़ा। उसके विवाह के लिए। जिसका विवाह उसके पिता ने नहीं मैंने किया। ऑस्ट्रेलिया में पढ़ाने मैं लेकर गया। अंतरजातीय विवाह। मुलायम कहते थे लालू की बेटी से करो। सुभाष यादव की बेटी से करो। इस मामले में मैं अखिलेश की तारीफ करूंगा। उसने कहा मैंने प्रेम किया है। अखिलेश ने मुझे बताया कि मैं ऐसी लड़की से विवाह करना चाहता हूं। आज वही लड़की कहती है कि अमर सिंह दिखे तो मैं टीवी बंद कर लेती हूं। आप सोचिए मेरी पीड़ा यह है। अखिलेश के विवाह में मुलायम सिंह अतिथि की तरह आए थे। और मुझे बहुत धमकाया था। लखनऊ का भोज] दिल्ली का भोज मैंने दिया। राष्ट्रपित को] प्रधानमंत्री को] सारे सिनेमा के कलाकारों को मैंने आमंत्रण दिया था। वह लड़का इस तरह से बात करेगा। हमारी तस्वीर पर पेशाब करेगा। हमें मां बहन की गाली देगा। मैं श्राप देता हूं उसे ईश्वर उसका कर्मफल इसी जीवन में देगा।


रामगोपाल हीनभावना से ग्रस्त है। इस पूरे परिवार में सबसे कमजोर व्यक्ति है। सबसे मजबूत व्यक्ति हैं मुलायम सिंह। इनके यहां सारे मंद बुद्धि हैं। जैसे दरिद्रों में सुरा पैसा श्रेष्ठ] वैसे ही मूर्खों में जो थोड़ा पढ़ा- लिखा हो वह प्रोफेसर। फर्जी छद्म प्रोफेसर रामगोपाल। जब मैं आया तब रामगोपाल की भूमिका कुछ कम हुई। हमारी विधा के सामने यह छद्म प्रोफेसर कुछ क्षीण हुआ। उनकी जो संप्रभुता थी उसमें ग्रहण लगा। वो हमारे स्वाभाविक विरोधी हैं। राजबब्बर को मेरे खिलाफ भड़काने में उनकी भूमिका रही है। जो बाद में उन्होंने माना। मैं ऑन रिकार्ड कह रहा हूं।

 
         
 
ges tkus | vkids lq>ko | lEidZ djsa | foKkiu
 
fn laMs iksLV fo'ks"k
 
 
fiNyk vad pquss
o"kZ  
 
 
 
vkidk er

क्या मुख्यमंत्री हरीश रावत के सचिव के स्टिंग आॅपरेशन की खबर से कांग्रेस की छवि प्रभावित हुई है?

gkW uk
 
 
vc rd er ifj.kke
gkW & 70%
uk & 14%
 
 
fiNyk vad

अपूर्व जोशी % खसरा खतौनी हो चुकी है\

उसके बाद आखिलेश ने हमसे पूछा कि आप किसके साथ हैं। हमने कहा हम मुलायम सिंह के साथ हैं। तुम मुलायम के बेटे हो इसलिए तुम्हारे साथ

foLrkkj ls
 
 
vkidh jkf'k
foLrkkj ls
 
 
U;wtysVj
Enter your Email Address
 
 
osclkbV ns[kh xbZ
1916447
ckj