fnYyh uks,Mk nsgjknwu ls izdkf'kr
चौदह o"kksZa ls izdkf'kr jk"Vªh; lkIrkfgd lekpkj i=
vad 18 21-10-2017
 
rktk [kcj  
 
जनपद से
 
?kkVh के लिए नहीं कोई सरकार
  • संजय कुंवर

 

चमोली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और गृहमंत्री राजनाथ सिंह बेशक हाल में देश के अंतिम गांव माणा पहुंचे चुके हों] लेकिन प्रदेश की सरकार का कोई भी नुमाइंदा सरकार बनने के छह माह बाद भी ऊपरी अलकनंदा ?kkVh के दर्जन भर गांवों की खबर लेने नहीं पहुंचा है। इससे सीमांत के लोगों का साफ कहना है कि उनकी समस्याएं आज भी उनके साथ बनी हुई हैं। उनके लिए कहीं कोई सरकार नहीं है।

 

२१वीं सदी में भले हीे देश&दुनिया चांद तारों पर पहुंच चुकी हो लेकिन सीमांत चमोली जिले के दर्जन भर गांवों के लोग आज भी आदमयुग में जीने को मजबूर हैं। आजादी के ७० साल बाद भी सीमांत के लोग मूलभूत सुविधओं के लिए तरस रहे हैं। दरअसल सीमांत जोशीमठ ब्लॉक के दूरस्थ गांव डुमक] कलगोठ] उछोंग्वाड] पल्ला] जखोला] किमाणा] पोखनी] लांजी] f?kax] तपोवन के लोगों के लिए सरकार के कोई मायने नहीें हैं। यहां बदरीनाथ के विधायक महेंद्र भट्ट ने चुनाव से पहले वादा किया था कि वे चुनाव जीतने के बाद दूरस्थ गांवों में पहुंचकर ग्रामीणों की समस्याएं सुनेंगे। विधायक का बिना चेहरे देखे ही भरोसा कर गांव के लोगों ने अपना वोट उन्हें दिया। लेकिन विधायक ने चुनाव जीतने के छह माह बाद भी इन गांवों में जाने की जरूरत महसूस नहीं की। सीमांत के लोग अपनी मूलभूत सुविधाओं के लिए सरकार से गुहार लगाते&लगाते थक चुके हैं। अब क्षेत्र के लोगों का साफ कहना है कि उनके लिए सरकार के कोई मायने नहीं हैं।

 

क्षेत्र के ग्रामीण आज भी १५&२० किमी पैदल चलकर अपनी मूलभूत सुविधाओं को पीठ व खच्चरों के बल गांव तक पहुंचा रहे हैं। शिक्षा] स्वास्थ्य] विद्युत की स्थिति दयनीय है। सड़क का सपना तो सपना ही बन कर रह गया है। लंबे la?k"kZ के बाद सीमांत के सबसे दूरस्थ गांव डुमक&कलगौठ स्यूंण के लोगों ने गोपेश्वर&द्घिंगराण& स्यूंण&डुमक मोटर मार्ग ३२ किमी की स्वीकूति कराई। जिसकी निर्माण गति कछुवा चाल से भी सुस्त चल रही है। स्थानीय लोगों का कहना है कि उन्हें उम्मीद थी कि प्रदेश में डबल इंजन की सरकार आने से उनको जल्द ही सड़क सुविधा का लाभ मिलेगा लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हुआ। सड़क सुविधा तो दूर माननीय विधायक गांव तक पहुंचने को तैयार नहीं हैं। अब हम अपनी समस्याएं किसके सामने रखें।

 

उर्गम से पल्ला&जखोला] किमाणा को जोड़ने वाली ३ किमी सड़क २० वर्ष बाद भी गांव तक नहीं पहुंच पाई है। इससे नाराज होकर क्षेत्र के ग्रामीणों ने एक सप्ताह पूर्व जुलूस निकाल कर तहसील जोशीमठ में उपजिलाधिकारी को ज्ञापन भी सौंपा गया। पल्ला गांव के दिपेेंद्र सिंह एवं नरेंद्र राणा का कहना है कि क्षेत्र के लोगों के लिए सरकार द्वारा कोई कार्य नहीं किए जा रहे हैं। संदीप रावत ने आरोप लगाया कि बदरीनाथ के विधायक महेंद्र भट्ट ने ग्रामीणों से वादा किया था कि वे चुनाव जीतने के बाद दूरस्थ गांवों में पहुंकर उनकी समस्याएं सुनेंगे। अब सरकार बने छह माह हो गए हैं लेकिन विधायक जी अपना वादा नहीं निभा पाए हैं। क्षेत्र के लोग २० सालों से सड़क़ की मांग कर रहे हैं लेकिन अब तक सिर्फ डेढ़ किमी सड़क ही बन पाई है। तीन&तीन विधायकों का आश्वासन भी ३ किमी सड़क गांव तक नहीं पहुंचा पाया है। इससे दयनीय स्थिति और क्या हो सकती है।


रोटी बैंक मिटाएगा भूख

 

  • विमल गुप्ता

 

 

सितारगंज ¼ऊधमसिंह नगर½। फिल्म ^रोटी^ का एक संवाद है] ^इंसान को दिल दे] दिमाग दे] जिस्म दे पर कमबख्त ये पेट न दे।^ यह संवाद इंसान की सबसे बड़ी कमजोरी भूख से जुड़ा हुआ है। इंसान के जीवन की पहली आवश्यकता है रोटी। इसे मानव समाज की विडंबना ही कहा जाएगा कि इसके एक तबके के पास आवश्यकता से कहीं अधिक है तो दूसरे तबके को पेट भरने के लिए रोटी मयस्सर नहीं हो पाती। एक ओर शाही आयोजनों में जमकर भोजन की बर्बादी होती है तो दूसरी तरफ कई ?kjksa में चूल्हा जलना चुनौती बन जाता है। इस विषमता को ध्यान में रखते हुए ^आधुनिक दुनिया परिवार^ ने बेसहारा] निर्धन] लाचार] अहसाय और भूखे लोगों के दर्द को मसझते हुए रोटी बैंक की स्थापना की है। 

 

उत्तराखण्ड राज्य के सितारगंज क्षेत्र में किच्छा रोड] पटियाला बैंक वाली गली में आधुनिक दुनिया परिवार ने रोटी बैंक की शुरुआत की। जिसका विधिवत mn~?kkVu आधुनिक दुनिया के विशेष कार्याधिकारी खूब सिंह ^विकल^ एवं समाज सेविका शारदा रानी ने किया। इस मौके पर श्री विकल ने कहा कि आधुनिक दुनिया परिवार पिछले कई वर्षों से क्षेत्र की विभिन्न प्रतिभाओं को सम्मानित कर समाजिक कार्यों को बढ़ावा देने का काम कर रहा है। इसी क्रम में रोटी बैंक खोला गया है। उन्होंने कार्य योजनाओं पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए बताया कि हमने बेबस] असाहय] लाचार भूखे इंसान को कम से कम एक वक्त की रोटी उपलब्ध कराने का साना संजोया है] ताकि किसी ?kj] फुटपाथ] झुग्गी&झोपड़ी में कोई बेबस भूखा न सोने पााए।

 

रोटी बैंक के अध्यख भारत सिंह ने बताया कि बेशक रोटी बैंक की शुरुआत अभी छोटे स्तर से की गई है परंतु जल्दी ही इसे वृहद रूप दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि अक्सर ?kjksa में प्रतिदिन खाने का कुछ न कुछ सामान बच जाता है] जो कि उपयोग में नहीं आ पाता है। इसे ही रोटी बैंक से जुड़े कार्यकर्ता एकत्रित कर जरूरतमंदों तक पहुंचाएंगे। बैंक सचिव विशाल श्रीवास्तव ने बताया कि इस रोटी बैंक में आप स्वयं रोटियां या एक वक्त का भोजन जमा करवा सकते हैं और यदि आप भूखें हैं तो आप बैंक से सीधे रोटी प्राप्त कर सकते हैं। इस मौके पर विनोद कुमार] निखिल वरसीवाल] सोनू शर्मा आदि ने रोटी जमाकर बैंक में अपना खाता खुलवाया। इस मौके पर रोटी बैंक के संरक्षक संदीप बिष्ट] वीर सिंह] हरीश कुमार] आकाश सिंह उपस्थित रहे।

 
         
 
ges tkus | vkids lq>ko | lEidZ djsa | foKkiu
 
fn laMs iksLV fo'ks"k
 
 
fiNyk vad pquss
o"kZ  
 
 
 
vkidk er

क्या मुख्यमंत्री हरीश रावत के सचिव के स्टिंग आॅपरेशन की खबर से कांग्रेस की छवि प्रभावित हुई है?

gkW uk
 
 
vc rd er ifj.kke
gkW & 70%
uk & 14%
 
 
fiNyk vad

कहते हैं इंसान के हालात तभी बदलते हैं जब वह उसे खुद बदलना चाहे। लखनऊ की अंजली सिंह ने बदलाव करना चाहा इसलिए वह अब तरक्की पर हैं। वह पहले २० हजार रुपए महीने कमाती थीं लेकिन अब वह आठ से

foLrkkj ls
 
 
vkidh jkf'k
foLrkkj ls
 
 
U;wtysVj
Enter your Email Address
 
 
osclkbV ns[kh xbZ
1872035
ckj