fnYyh uks,Mk nsgjknwu ls izdkf'kr
चौदह o"kksZa ls izdkf'kr jk"Vªh; lkIrkfgd lekpkj i=
vad 18 21-10-2017
 
rktk [kcj  
 
खेल 
 
श्रीलंका को मात
  • जीवन सिंह टनवाल

भारत और श्रीलंका के बीच तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में पहले टेस्ट मैंच में भारत ने श्रीलंका को ३०४ रनों से करारी शिकस्त दी है। रनों के लिहाज से भारत की यह अब तक की सबसे बड़ी जीत है तो श्रीलंका की सबसे बड़ी हार भी है। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत ने अपनी पहली पारी में विशालकाय ६०० रन बनाएं जिसमें भारतीय ओपनर शिखर धवन ने ताबड़तोड़ १९० रन बनाए तो चेतेश्वर पुजारा ने भी १४४ रनों की पारी खेली। रहाणे और आलराउंडर हार्दिक पांड्या ने भी अर्द्धशतक लगाए।

जवाब में श्रीलंका ने अपनी पहली पारी में २९१ रन बनाएं इस तरह भारत ने श्रीलंका पर ३०९ रनों की लीड ली। भारत ने दूसरी पारी में भी शानदार खेल दिखाया। भारतीय ओपनर अभिनव मुकुंद जो पहली पारी में जल्दी आउट हो गए थे उन्होंने दूसरे पारी में संभलकर खेलते हुए ८९ रनों की शानदार पारी खेली हालांकि वह अपना पहला शतक बनाने से चूक गए। कप्तान विराट कोहली ने भी दूसरी पारी में नाबाद १०३ रनों की पारी खेली। रहाणे के नाबाद २३ रन पर खेलते हुए भारत ने अपनी दूसरी पारी २४० रन पर द्घोषित कर दी। भारत की पहली पारी में ३०९ रनों की बढ़त से श्रीलंका को जीत के लिए भारत ने श्रीलंका के सामने ५५० रनों का असंभव लक्ष्य रख दिया। मेजबान टीम के ओपनर दिमुथ करुणारत्ने की ९७ रनों की पारी के बावजूद श्रीलंका की पूरी टीम २४५ रनों पर सिमट गई। श्रीलंका के दो खिलाड़ी रंगना हेरात और असेला गुणारत्ने चोटिल होने के कारण बल्लेबाजी करने नहीं उतरे इस तरह भारत ने श्रीलंका को ३०४ रन से हराकर सीरीज में १-० से बढ़त भी हासिल कर ली है। भारत की इस जीत में खुद विराट का अहम योगदान रहा। उन्होंने भारत की दूसरी पारी में १३६ गेंदों में नाबाद १०३ रन बनाए जो उनका १७वां टेस्ट शतक था। विराट ने अपने १७वें टेस्ट शतक के दम पर श्रीलंका के सामने मुश्किल लक्ष्य रखा और अपनी कप्तानी में १७वीं जीत हासिल कर ली। भारतीय गेंदाबजों ने श्रीलंका को मैच के पांचवे दिन भी खींचने का मौका भी नहीं दिया मैच को चौथे ही दिन समापत कर दिया। अश्विन ने दूसरी पारी में ६५ रन देकर तीन विकेट लिए तो जडेजा ने भी ७१ रन देकर तीन विकेट लिए और तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी और उमेश यादव ने एक-एक विकेट लिए। शिखर धवन को शानदार १९० रनों की पारी के लिए ^मैन ऑफ द मैच^ चुना गया। विराट कोहली बतौर कप्तान टेस्ट मैचों में शतक लगाने में भारत के पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुदीन को पीछे छोड़ते हुए विरोट अपनी कप्तानी में दस टेस्ट शतक जड़ चुके हैं और इस रिकॉर्ड में सबसे पहला नाम पूर्व कप्तान सुनील गांवस्कर का है और विराट इस रिकॉर्ड के बेहद करीब है।

मिताली हुई मालामाल

हैदराबाद क्रिकेट la?k ¼एचसीए½ भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज को सम्मानित करेगा। एचसीए के अध्यक्ष जी विवेकानंद ने कहा कि एचसीए को मिताली राज पर गर्व है जिन्होंने भारतीय महिला क्रिकेट टीम की इतने अच्छे तरीके से अगुआई करते हुए कठिन परिस्थितियों में आईसीसी महिला विश्व कप के फाइनल में पहुंचाने में सफल रहीं। उनका नियोक्ता भी उन्हें सम्मानित करेगा लेकिन मिताली ने एचसीए के कार्यक्रम में भी समय निकालने की बात कही है और तेलंगाना सरकार ने एक मुलाकात के बाद मिताली को बधाई दी। मुख्यमंत्री के ़ चंद्रशेखर राव ने हाल ही में संपन्न महिला विश्व कप में मिताली की अगुआई वाली टीम के शानदार प्रदर्शन की तारीफ की है। मुख्यमंत्री कार्यालय से विज्ञप्ति जारी की गई कि तेलंगाना सरकार भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज को एक करोड़ रुपए की नगद ईनामी राशि और ६०० वर्ग गज का आवासीय प्लाट दिया जाएगा।

 

मुक्केबाजों का पंच

भारतीय मुक्केबाजों ने चेक गणराज्य में ४८वीं ग्रा प्री उस्ती नाद लाबेम चैंपियनशिप में शानदार प्रदर्शन करते हुए पांच स्वर्ण, दो रजत और एक कांस्य पदक जीता। विश्व चैंपियनशिप के कांस्य पदक विजेता शिव थापा ¼६० किग्रा½ राष्ट्रमंडल खेलों के पूर्व स्वर्ण पदक विजेता मनोज कुमार, ¼६९ किग्रा½, अमित फंगल ¼५२ किग्रा½, गौरव बिधुड़ी ¼५६ किग्रा½ और सतीश कुमार ¼९१ किग्रा½ से अधिक ने अपने-अपने फाइनल मुकाबलों में जीत दर्ज करके स्वर्ण पदक जीते कविंदर बिष्ट ¼५२ किग्रा½ और मनीष पंवार ¼८१ किग्रा½ को रजत पदक से संतोष करना पड़। इससे सुमित सांगवान के सेमीफाइनल में हारने के कारण कांस्य पदक ही हासिल किया। अमित और कविंदर दोनों ही फाइनल में आमने-सामने थे। इन दोनों में अमित लाइट फ्लाईवेट ¼४९½ किग्राम में खेलते हैं लेकिन इस प्रतियोगिकता में वह फ्लाईवेट में उतरे। उन्होंने कविंदर को तीन दो से हराया तो गौरव ने पोलैंड के इवानाउ जारोस्लाब को ५-० से करारी शिकस्त दी। हाल ही में एशियाई चैंपियनशिप में रजत पदक विजेता शिव थापा ने स्लोवाकिया के फिलिप मेसजारोस पर शुरू से दबदबा बनाए रखा और ५-० से जीत दर्ज की जो जर्मनी के हैब्बर्ग में अगले महीने होने वाली विश्व चैंपियनशिप से पहले उनके लिए मनोबल बढ़ाने वाली जीत है।

बीसीसीआई का फरमान

भारतीय खिलाड़ियों के लिए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ¼बीसीसीआई½ ने एक नया फरमान जारी किया है। जिसके चलते भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली को अपनी नौकरी से इस्तीफा देना पड़ सकता है। सुप्रीम कोर्ट की क्रिकेट प्रशासक समिति ¼सीओए½ ने बोर्ड को यह स्पष्ट कर दिया है कि कोई भी खिलाड़ी किसी सरकारी या सार्वजनिक कंपनियों के पदों पर नहीं रह सकता है। इसके तहत कप्तान विराट कोहली को बीसीसीआई ने कहा कि उन्हें ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉरपोरेशन ¼ओएनजीसी½ में मैंनेजर पद को छोड़ना होगा। यह फैसला बीसीसीआई ने हितों के टकराव के तहत लिया गया है।

 

खिलाड़ियों का धरना

भारत में खेलों और खिलाडियों को लेकर यह आमचलन है कि किसी को विदेशी मंच पर पदक जीतने पर सिर आंखों पर बैठा लिया जाता है तो कुछ को न पहचान मिलती है और न ईनाम। तुर्की में बधिर ओलंपिक में अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर लौटे भारतीय दल ने प्रशासन से नजरअंदाज किए जाने पर नाराजगी जताते हुए नई दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर अपना विरोध प्रदर्शन किया। मीडिया में इस खबर के आने के बाद फिर से यह तर्क साफ हो गया है कि न तो खेल la?kksa और न ही केंद्रीय खेल मंत्रालय के पास खिलाडियों को लेकर कोई नीति है। इन दिव्यांग भारतीय खिलाड़ियों ने तुर्की में संपन्न हुए बधिर ओलंपिक खेलों में एक स्वर्ण सहित पांच पदक जीते हैं। ४६ सदस्यीय खिलाड़ियों और स्पोट्स स्टाफ के भारतीय दल के स्वागत के लिए न यहां खेल la?k के अधिकारी मौजूद थे और न ही केंद्रीय खेल मंत्रालय की ओर से कोई प्रतिनिधि यहां मौजूद था। इसके अलावा मीडिया को भी इसकी कोई जानकारी नहीं थी। सरकार और मंत्रालय की इस बेरुखी से नाराज भारतीय दल ने विरोध स्वरूप हवाई अड्डे पर ही अपना विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया और हवाईअड्डे से जाने से भी इंकार कर दिया। खिलाड़ी खेल मंत्री विजय गोयल से भी इस मुद्दे पर बात नहीं कर सके। 

अखिल भारतीय बधिर परिषद के प्रोजेक्ट अधिकारी केतन शाह ने एक कहा कि हम ओलंपिक और पैरालंपिक खिलाड़ियों की सफलता का जश्न मनाते हैं लेकिन बधिर खिलाड़ियों को अपने अच्छे प्रदर्शन के बाद भी पहचान नहीं मिलती है। हमने इन खेलों में अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है लेकिन हमें कोई सम्मान नहीं मिला। उन्होंने कहा कि हमने खेल मंत्री विजय गोयल और भारतीय खेल प्राधिकरण¼साई½ के महानिदेशक से भी बात करने का प्रयास किया लेकिन किसी ने हमारी बात नहीं सुनी। हमने उन्हें २५ जुलाई को ईमेल कर जानकारी दी थी कि हमारा दल एक अगस्त को वापस आ रहा है लेकिन हमें किसी ने कोई जवाब नहीं दिया। हम आने से पहले भी मंत्रालय से संपर्क साधने का प्रयास करते रहे लेकिन किसी ने हमें उत्तर नहीं दिया। नजरअंदाज किए जाने से दुखी खिलाड़ियों और स्पोट्स स्टाफ के सदस्यों ने अपनी सांकेतिक भाषा में कहा कि यहां उनके स्वागत के लिए कोई मौजूद नहीं था और न ही यहां खिलाड़ियों से मिलने के लिए कोई आया। यह खिलाडियों के मनोबल को गिराने वाला है। 

भारत ने गत वर्ष रियो ओलंपिक में अपना सबसे बड़ा दल उतारा लेकिन उसे केवल एक कांस्य और एक रजत ही मिल सका। लेकिन रियो पैरालंपिक में उसके एथलीटों ने बेहतरीन प्रदर्शन कर स्वर्ण सहित चार पदक जीते थे जिसके बाद इन खिलाडियों को केंद्र और राज्य सरकारों से बड़े ईनाम मिले। वहीं विश्वकप में फाइनल हारने के बाद भी उनका हौंसला बढ़ाने के लिए महिला क्रिकेटरों का स्वागत किया गया था। लेकिन बधिर ओलंपिक में पांच पदक जीतने पर भी खिलाड़ियों को सरकार और खेल la?kksa की बेरुखी का शिकार होना पड़ा जो देश में एक समान खेल नीति और मंत्रालय के खराब रवैये को दर्शाता है।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 
         
 
ges tkus | vkids lq>ko | lEidZ djsa | foKkiu
 
fn laMs iksLV fo'ks"k
 
 
fiNyk vad pquss
o"kZ  
 
 
 
vkidk er

क्या मुख्यमंत्री हरीश रावत के सचिव के स्टिंग आॅपरेशन की खबर से कांग्रेस की छवि प्रभावित हुई है?

gkW uk
 
 
vc rd er ifj.kke
gkW & 70%
uk & 14%
 
 
fiNyk vad

  • संजय चौहान

भले ही अलग राज्य बनने के १७ साल बीत जाने के बाद भी उत्तराखण्ड क्रिकेट la?k को बीसीसीआई से मान्यता न मिली हो मगर पहाड़ी राज्य उत्तराखण्ड के लाल

foLrkkj ls
 
 
vkidh jkf'k
foLrkkj ls
 
 
U;wtysVj
Enter your Email Address
 
 
osclkbV ns[kh xbZ
1871956
ckj