fnYyh uks,Mk nsgjknwu ls izdkf'kr
चौदह o"kksZa ls izdkf'kr jk"Vªh; lkIrkfgd lekpkj i=
vad 18 21-10-2017
 
rktk [kcj  
 
प्रदेश से
 
वर्चस्व की लड़ाई

  • अरुण कश्यप

पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल ^निशंक^ और कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक के बीच इन दिनों वर्चस्व की जंग चल रही है। दोनों खेमे हार मानने को तैयार नहीं हैं। धर्मनगरी हरिद्वार में शराब के एक ठेके को बंद करवाने और खुलवाए रखने की जोर-आजमाइश को भी वर्चस्व की इसी जंग से जोड़कर देखा जा रहा है

 

धर्मनगरी हरिद्वार के सियासी धरातल पर पिछले कई दिनों से भाजपा के दो दिग्गजों पूर्व मुख्यमंत्री एवं स्थानीय सांसद रमेश पोखरियाल ^निशंक^ और प्रदेश के कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक के बीच वर्चस्व की जंग चल रही है। इस जंग का असर अभी हाल में संपन्न कांवड़ मेला सम्मान समारोह में भी देखने को मिला। दरअसल]] कांवड मेला सकुशल संपन्न होने के बाद सांसद निशंक ने एक सम्मान समारोह हाईवे पर स्थित भाजपा के जिला अध्यक्ष ओम प्रकाश जमदाग्नि के होटल ^पार्क ग्रेंड^ में कराया। इसमें उन अधिकारियों को सम्मानित किया गया जिन्होंने कांवड़ मेले में ड्यूटी की। इस कार्यक्रम में जिलाधिकारी दीपक रावत और पुलिस कप्तान कूष्ण कुमार वीके सहित जनपद के सभी आला अधिकारी मौजूद थे। अधिकारियों के साथ भाजपा के तीन विधायक आदेश चौहान] सुरेश राठौर] स्वामी यतीश्वेरानंद और कई जाने-माने नेता भी शामिल हुए। लेकिन लोगों को आश्चर्य यह देखकर हुआ कि जिस शहर में यह सम्मान समारोह आयोजित किया गया वहां के विधायक और कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक ने इस कार्यक्रम में शिरकत नहीं की। यही नहीं उनके सहयोगी कहे जाने वाले किसी स्थानीय भाजपा नेता का चेहरा कार्यक्रम में देखने को नहीं मिला।

हरिद्वार जिले में पिछले कुछ महीनों से विवादित जगजीतपुर शराब ठेके को खुलवाने और बंद करवाने की कोशिशों को भी जनता इन्हीं दिग्गज नेताओं के वर्चस्व की जंग के तौर पर देख रही है। चर्चा है कि कौशिक खेमा अंदरखाने ठेका खुलवाए रखने और निशंक खेमा ठेका बंद करवाने की पुरजोर कोशिश में है। ठेके को लेकर चल रहा विवाद इस कदर चरम पर है कि लगभग ढाई महीने से ठेके का विरोध कर रहे एक ३५ वर्षीय गुलशन सैनी नाम के व्यक्ति ने क्षेत्रीय भाजपा विधायक स्वामी यतीश्वरानंद की मौजूदगी में कीटनाशक खाकर आत्महत्या का प्रयास किया। गुलशन अपने साथ पहले से लिखा सुसाईड नोट भी लेकर आया था। जिसमें उसने आबकारी विभाग के एनआर जोशी] बीएस चौहान] ठेकेदार महक सिंह तथा नरेंद्र सैनी को अपने इस कदम का जिम्मेदार ठहराया था। लेकिन आश्चर्य इस बात को लेकर जाहिर किया जा रहा है कि आखिर गुलशन ने तब जहर क्यों खाया जब विधायक स्वामी यतीश्वरानंद और उनके समर्थक जबरन ठेका बंद करा चुके थे और एक स्थानीय फोटोग्राफर गंगा राम की पिटाई कर उसका कैमरा भी तोड़ चुके थे। चर्चा है कि फोटोग्राफर को ठेका स्वामियों ने उस वक्त फोटो खींचने के लिए तैनात किया था जब ठेके पर जबरन तालाबंदी हो।

हालांकि आत्महत्या के प्रयास की इस ?kVuk ने ठेके के विरोध-प्रदर्शन को सुर्खियों में 'kqekj कर दिया पर कुछ चीजों ने इस पूरे मामले के पीछे बड़े राजनीतिक खेल होने का भी इशारा किया। कुछ बिंदुओं पर जाकर अचानक माथा ठनक जाता है जैसे विधायक ने ठेके की तालाबंदी के लिए वही दिन क्यों चुना जब पूर्व मुख्यमंत्री और वर्तमान सांसद डॉ रमेश पोखरियाल निशंक का शहर में होना पूर्व निर्धारित था? राजनीतिक जानकार शराब ठेके के इस पूरे प्रकरण को ही राजनीतिक स्टंट करार दे रहे हैं जिसमें प्रदेश स्तर पर भाजपा के दो सबसे प्रभावशाली गुट अंदरखाने आमने-सामने हैं। इसमें सबसे ज्यादा निशंक खेमे के मजबूत पिलर माने जाने वाले हरिद्वार ग्रामीण से विधायक स्वामी यतीश्वरानंद उलझते हुए दिखाई दे रहे हैं। चर्चा है कि विधायक के समर्थकों ने जब उनसे इस ठेके के विरोध-प्रदर्शन में शामिल होने के लिए गुहार लगाई होगी शायद तब स्वामीजी को खुद ये पता नहीं रहा होगा कि यह मुद्दा आगे जाकर उनके और उनके पूरे गुट के लिए नाक का सवाल बन जाएगा। भाजपा के अंदर के लोगों की मानें तो इस मामले में प्रदेश के कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक और निशंक खेमा आमने-सामने है। दोनों खेमों की खींचतान में विधायक स्वामी यतीश्वरानंद की किरकिरी हो रही है। अब तक दो बार ठेके की तालाबंदी कर चुके विधायक को अपनी ही सरकार में अपने समर्थकों के बीच नाक बचानी मुश्किल हो रही है। विधायक के सामने धर्म संकट है कि प्रदेश में भाजपा की सरकार होने के बावजूद वे ठेके को बंद नहीं करवा पा रहे हैं। जगजीतपुर शराब ठेका आबकारी विभाग के लिए सोने का अंडा देने वाली मुर्गी है। जिले भर में सबसे ज्यादा राजस्व देने वाला यह दूसरा ठेका है। इस ठेके पर शराब की बिक्री किस स्तर से होती होगी इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि प्रतिदिन के हिसाब से इस दुकान पर पांच लाख रुपए का अधिभार है। इस संबंध में हरिद्वार ग्रामीण के विधायक यतीश्वरानंद से कई बार बात करने की कोशिश की गई। लेकिन वह उपलब्ध नहीं हुए।

 

वैसे तो आपको क्षेत्रीय विधायक से इस संबंध में बात करनी चाहिए] लेकिन सरकार का प्रवक्ता होने के नाते मैं आपको ये जानकारी दे सकता हूं कि हमने शासन स्तर से प्रत्येक जिले के जिलाधिकारी को यह अधिकार दिए हैं कि वे अपने तरीके से इस तरह की समस्याओं का समाधान करवाएं। हो सकता है कि क्षेत्रीय विधायक इस तरह का काम कर रहे हों] पर उसके लिए जिलाधिकारी को पूरे अधिकार दिए गए हैं। 

मदन कौशिक] शहरी विकास मंत्री

 

शराब की दुकान का लाइसेंस शासन स्तर से नियम मुताबिक जारी होता है। हरिद्वार का यह ठेका भी शासन से ही मिला है। इसलिए ठेके को सुचारू रखना हमारी जिम्मेदारी है। ठेका खुलेगा या बंद होगा इस पर सरकार को फैसला लेना है। सरकार यदि उसे खुलवा नहीं सकती तो बंद करने का निर्णय ले और ठेकेदार को फ्री करे। विवाद से सरकार को रोजाना लाखों का राजस्व नुकसान हो रहा है।

एमएन जोशी] आबाकारी अधिकारी हरिद्वार

 

सरकार और अदालत के फैसलों के खिलाफ जाकर हरिद्वार ग्रामीण के विधायक स्वामी यतीश्वरानंद ने साबित कर दिया कि वे खुद को सरकार और अदालत से बड़ा समझते हैं। इसका खामियाजा हमें भुगतना पड़ रहा है। हम हर दिन सरकार के कर्ज में डूबते जा रहे हैं। ऐसे में हमारे सामने आत्महत्या के अलावा कोई और विकल्प नहीं बचेगा। 

महक सिंह] अनुज्ञापी देशी मदिरा जगजीतपुर

 

 

 
         
 
ges tkus | vkids lq>ko | lEidZ djsa | foKkiu
 
fn laMs iksLV fo'ks"k
 
 
fiNyk vad pquss
o"kZ  
 
 
 
vkidk er

क्या मुख्यमंत्री हरीश रावत के सचिव के स्टिंग आॅपरेशन की खबर से कांग्रेस की छवि प्रभावित हुई है?

gkW uk
 
 
vc rd er ifj.kke
gkW & 70%
uk & 14%
 
 
fiNyk vad

Bharat Rawat : दीनदयाल के पर्दे से चंद्र सिंह गढ़वाली नहीं ढके जा सकेंगे] मुख्यमंत्री जी! आज पेशावर विद्रोह के नायक कामरेड चंद्र सिंह गढ़वाली की पुण्यतिथि है। १ अक्टूबर

foLrkkj ls
 
 
vkidh jkf'k
foLrkkj ls
 
 
U;wtysVj
Enter your Email Address
 
 
osclkbV ns[kh xbZ
1871964
ckj