fnYyh uks,Mk nsgjknwu ls izdkf'kr
चौदह o"kksZa ls izdkf'kr jk"Vªh; lkIrkfgd lekpkj i=
vad 26 16-12-2017
 
rktk [kcj  
 
खबर का असर
 
एक्शन में अधिकारी

  • जसपाल नेगी

एडीएम मरीज बनकर अस्पताल में दाखिल हुए तो पता चला स्वास्थ्य सेवाओं की बदहाली का आलम क्या है

प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं और डॉक्टरों की कमी को लेकर ^दि संडे पोस्ट^ ने १६-२२ जुलाई २०१७ के अपने विशेष अंक में खास खबर प्रकाशित की थी। जिसमें बताया गया कि प्रदेश सरकार ने पहाड़ी इलाकों में डॉक्टर भेजने के उद्देश्य से २०० के करीब डॉक्टरों का तबदाला किया पर उनमें से ज्यादातर ने ज्वाइन ही नहीं किया। जो डॉक्टर पहाड़ पर हैं] उनमें से कई अस्पताल से नदारद रहते हैं। ^दि संडे पोस्ट^ की इस खबर के प्रकाशित होने के बाद पौड़ी प्रशासन हरकत में आया है। जिलाधिकारी सुशील कुमार ने इसे गंभीरता से लिया है। उन्होंने अस्पतालों में औचक निरीक्षण शुरू कर दिया है।

जिलाधिकारी के निर्देश पर २५ जुलाई को पौड़ी जिला चिकित्सालय का औचक निरीक्षण अपर जिलाधिकारी रामजी शरण शर्मा ने किया। अपर जिलाधिकारी ने आम मरीज की तरह अस्पताल में प्रवेश किया। उन्होंने अपना पंजीकरण एकल खिड़की से कराया। जिसके बाद वे सीधे आकस्मिक कक्ष में पहुंचे और यहां पर मरीजों को दिए जा रहे चिकित्सा उपचार] सलाह] दवाओं] सिरींज और विभिन्न प्रकार की जीवन रक्षक दवाओं आदि का निरीक्षण किया। उन्होंने विभिन्न प्रकार की दवाओं की अनुपलब्धता पर भी जानकारी प्राप्त की। आकस्मिक कक्ष के निरीक्षण के दौरान एडीएम को अमरजेंसी टे्र से कई अहम दवाएं भी गायब मिलीं।

निरीक्षण के दौरान मुख्य चिकित्सक अधीक्षक नदारद पाए गए। जानकारी प्राप्त की गई तो पता चला कि वे अपनी मां का हाल जानने के लिए पौड़ी से बाहर गए हैं। उपस्थिति पंजिका का निरीक्षण करने पर पाया गया कि चिकित्सालय में १७ डॉक्टर तैनात हैं। जिसमें से ४ डॉक्टर ड्यूटी पर दिखे। चार अन्य डॉक्टर अपने आकस्मिक या विभागीय कार्य से बाहर थे। इस प्रकार चिकित्सालय में कार्यरत ९ डॉक्टर अनुपस्थित पाये गये। इस मौके पर एडीएम ने आकस्मिक कक्ष] अल्ट्रासाउंड कक्ष] दवा वितरण केंद्र] औषधि भंडार] पैथोलोजी लैब] पुरुष एवं महिला सर्जिकल वार्ड का भी निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान पैथोलॉजी लैब में दो कार्मिक] दो स्टाफ नर्स के साथ एक मेट्रन भी नदारद पाए गए। अपर जिलाधिकारी ने आयुर्वेदिक कक्ष] नेत्र सर्जन एवं दन्त चिकित्सक के कक्षों का भी निरीक्षण किया। निरीक्षण में यहां कार्यरत सभी डॉक्टर उपस्थित मिले। औषधि भंडार के निरीक्षण आईबी माइक्रो सेट] एओक्सीलीन] आफलोसेन तथा जिंक टेबलेट के साथ ही थायरायड जैसी अहम दवाएं भी नहीं मिली। जिस पर नाराजगी जताते हुए एडीएम सीएमओ को दूरभाष से मांग की आपूर्ति करने को कहा।

सर्जिकल वार्डों के निरीक्षण के दौरान एडीएम ने मरीजों के बुखार आदि नापने के लिए थर्मामीटर दो से अधिक रखने की हिदायत दी। इन्हें समय-समय पर संरक्षित करने के लिए सेवलोन में रखने को कहा। इसके अलावा पुरुष सर्जिकल वार्ड के मरीजों के एडमिट कार्डों में दैनिक चिकित्सकीय सलाह रिपोर्ट दर्ज नहीं होने पर उन्होंने नाराजगी जताई। इस मौके पर एडीएम ने कहा कि अस्पताल प्रबंधन की अव्यवस्थाओं] नदारद डॉक्टरों तथा कर्मचारियों की रिपोर्ट तैयार कर जिलाधिकारी को सौंपी जाएगी। उन्होंने कहा कि जिले के दूरस्थ क्षेत्रों से आने वाले अंतरंग एवं बाह्यरंग रोगियों की स्वास्थ्य की जांच एवं दवा आदि का वितरण जिला चिकित्सालय के माध्यम से उपलबध कराया जाता है। चिकित्सालय में इस प्रकार की अव्यवस्थाओं को उन्होंने चिंताजनक बताया। अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही की पुनरावृत्ति होने पर दंडात्मक कार्यवाही भी की जा सकती है। इस निरीक्षण के अगले दिन जिलाधिकारी ने सभी अनुपस्थित डॉक्टरों एवं कर्मचारियों का एक दिन का वेतन काटने के आदेश दिए हैं। इसके साथ चेतावनी दी गई है कि भविष्य में बिना अनुमति अनुपस्थित होने पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

 

 

 

 

 

 
         
 
ges tkus | vkids lq>ko | lEidZ djsa | foKkiu
 
fn laMs iksLV fo'ks"k
 
 
fiNyk vad pquss
o"kZ  
 
 
 
vkidk er

क्या मुख्यमंत्री हरीश रावत के सचिव के स्टिंग आॅपरेशन की खबर से कांग्रेस की छवि प्रभावित हुई है?

gkW uk
 
 
vc rd er ifj.kke
gkW & 71%
uk & 15%
 
 
fiNyk vad

  • अपूर्व जोशी

^दि हिंदू^ के २६ नवंबर का अंक एक विशेष आलेख लिए था जिसने मुझे एक ग्रामीण महिला के la\k"kZऔर उसके प्रति जनआस्था से परिचय कराया। सोनी सोरी आज छत्तीसगढ़

foLrkkj ls
 
 
vkidh jkf'k
foLrkkj ls
 
 
U;wtysVj
Enter your Email Address
 
 
osclkbV ns[kh xbZ
1948148
ckj